डेली करेंट अफेयर्स और GK | 26 फरवरी 2021

Main Headlines:

विषय: खेल

1. आईओसी ने 2032 के ओलंपिक खेलों के लिए पसंदीदा उम्मीदवार के रूप में ब्रिसबेन की पुष्टि की।

  • अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति ने घोषणा की है कि ब्रिस्बेन, ऑस्ट्रेलिया 2032 ओलंपिक खेलों के लिए एक पसंदीदा स्थान है।
  • आईओसी के भविष्य मेजबानी समिति ने ब्रिस्बेन बोली आयोजकों और ऑस्ट्रेलियाई ओलंपिक समिति के साथ बात करने की सिफारिश की है।
  • क्वींसलैंड राज्य ने 2018 में राष्ट्रमंडल खेलों की मेजबानी की थी। ऑस्ट्रेलिया ने 2000 में सिडनी में ओलंपिक की मेजबानी की थी।
  • अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति एक गैर-सरकारी खेल संगठन है। यह ओलंपिक खेलों के आयोजन के लिए सर्वोच्च प्राधिकरण है। इसके वर्तमान अध्यक्ष थॉमस बाच हैं।
  • टोक्यो ओलंपिक 2020 का आयोजन 23 जुलाई से 8 अगस्त 2021 तक होना है।

ओलंपिक खेल              

स्थान

ओलंपिक खेल 2020

टोक्यो (जापान)

ओलंपिक खेल 2024

पेरिस (फ्रांस)

ओलंपिक खेल 2028

लॉस एंजिल्स (संयुक्त राज्य)

IOC confirms Brisbane as preferred candidate for the 2032 Olympic Games

(Source: News on AIR)

 

विषय: समझौता ज्ञापन / समझौते

2. कॉरपोरेट कार्य मंत्रालय और सीबीआईसी ने भारत में ‘ईज ऑफ डूइंग बिजनेस’ के लिए एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए।

  • कॉरपोरेट कार्य मंत्रालय ने डेटा के आदान-प्रदान के लिए केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर एवं सीमा शुल्क बोर्ड के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं।
  • दोनों संगठन भारत में ‘ईज ऑफ डूइंग बिजनेस’ को बढ़ावा देने और समावेशी नियामक प्रवर्तन में सुधार के लिए अपने डेटाबेस को साझा करेंगे।
  • दोनों आयात-निर्यात लेनदेन के विवरण और देश में पंजीकृत कंपनियों के समेकित वित्तीय विवरण को भी भी साझा करेंगे।
  • डेटा आदान-प्रदान तंत्र में और सुधार के लिए एक डेटा एक्सचेंज स्टीयरिंग ग्रुप भी बनाया गया है।
  • केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर और सीमा शुल्क बोर्ड (सीबीआईसी):
    • इसकी स्थापना 1 जनवरी 1964 को हुई थी। इसका मुख्यालय नई दिल्ली में है। इसका नेतृत्व मुत्तोली अजीत कुमार (एम अजीत कुमार) कर रहे हैं।
    • यह वित्त मंत्रालय के अधीन राजस्व विभाग का एक हिस्सा है।
    • जीएसटी के बाद, केंद्रीय उत्पाद और सीमा शुल्क बोर्ड (सीबीईसी) का नाम बदलकर केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर और सीमा शुल्क बोर्ड कर दिया गया है।
    • यह केंद्रीय जीएसटी, केंद्रीय उत्पाद शुल्क और कस्टम / आयात शुल्क के लिए नीतियां बनाता है और लागू करता है।
  • कॉरपोरेट कार्य मंत्रालय: यह मुख्य रूप से औद्योगिक और सेवा क्षेत्र में भारतीय उद्यमों के नियमन के लिए जिम्मेदार है। निर्मला सीतारमण कॉरपोरेट कार्य मंत्रालय की वर्तमान मंत्री हैं।

Ease of Doing Business in India

(Source: News on AIR)

 

विषय: खेल

3. दूसरा खेलो इंडिया विंटर गेम्स 26 फरवरी से 2 मार्च तक आयोजित किया जा रहा है।

  • दूसरा खेलो इंडिया विंटर गेम्स गुलमर्ग, जम्मू और कश्मीर में शुरू हो गया है।
  • जम्मू और कश्मीर स्पोर्ट्स काउंसिल और विंटर गेम्स एसोसिएशन ऑफ जम्मू एंड कश्मीर के सहयोग से युवा मामले और खेल मंत्रालय इस कार्यक्रम का आयोजन कर रहा है।
  • खेल गतिविधियों में अल्पाइन स्कीइंग, नॉर्डिक स्की, स्नोबोर्डिंग, स्की पर्वतारोहण, आइस हॉकी, आइस स्केटिंग, आइस स्टॉक शामिल हैं।
  • खेलो इंडिया विंटर गेम्स:
    • यह राष्ट्रीय स्तर का बहु-खेल आयोजन है।
    • 2020 में लेह और गुलमर्ग में पहले खेलो इंडिया विंटर गेम्स आयोजित किए गए थे।
    • जम्मू और कश्मीर पहले खेलो इंडिया विंटर गेम्स के विजेता के रूप में उभरा था।

Second Khelo India Winter Games

(Source: News on AIR)

विषय: समाचार में व्यक्तित्व

4. मलयालम कवि विष्णु नारायणन नम्बूदरी का निधन हो गया।

  • मलयालम कवि विष्णु नारायणन नम्बूदरी का 81 वर्ष की आयु में निधन हो गया।
  • उनका जन्म 2 जून 1939 को तिरुवल्ला में हुआ था।
  • उनके कुछ कामों में प्रणय गीथांगल, भारत एन्न विक्रम, उज्जयिनीयले रप्पाकलुकल, अरण्यकम, परिक्रमम, अपराजिता, आदि शामिल हैं।
  • उन्हें विभिन्न पुरस्कारों जैसे ओडाकुझल पुरस्कार, वल्लथोल पुरस्कार, 1979 में केरल साहित्य अकादमी पुरस्कार, 1994 में केंद्रीय साहित्य अकादमी पुरस्कार और 2014 में पद्म श्री से सम्मानित किया गया।

विषय: राज्य समाचार / हिमाचल प्रदेश

5. हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री ने 'ई-परिवहन व्यवस्था’ की शुरुआत की।

  • हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने हिमाचल प्रदेश परिवहन विभाग के 'ई-परिवाहन व्यवस्था’ की शुरुआत की है।
  • यह ड्राइविंग लाइसेंस, पंजीकरण प्रमाण पत्र, परमिट, आदि के संबंध में लोगों को सुविधा प्रदान करेगा।
  • हिमाचल प्रदेश सरकार ने पहले ई-विधान सभा (नेवा के रूप में उन्नत) शुरू की थी, उसके बाद ई-बजट, ई-कैबिनेट और अब ई-परिवन शुरू किया है।
  • हिमाचल प्रदेश:
    • यह उत्तर भारत का एक राज्य है जो जम्मू और कश्मीर, लद्दाख, हरियाणा, पंजाब, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश और तिब्बत के साथ सीमा साझा करता है।
    • यह पश्चिमी हिमालय में स्थित है। इसके 12 जिले हैं जो तीन भागों में बाटे हुए हैं - कांगड़ा, मंडी और शिमला।
    • हिमाचल प्रदेश की ग्रीष्मकालीन राजधानी शिमला है और शीतकालीन राजधानी धर्मशाला है।
    • हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल: बंडारू दत्तात्रेय
    • 25 जनवरी 1971 को हिमाचल भारत का 18 वाँ राज्य बना।
    • रियो पुरगिल हिमाचल प्रदेश की सबसे ऊँची चोटी है।
    • 2006 में, इसे भारत का दूसरा खुले में शौच मुक्त राज्य घोषित किया गया।
    • हिमाचल प्रदेश में ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क एक यूनेस्को विश्व धरोहर स्थल है।
    • गद्दी, गुर्जर, कनौरा, भोट, स्वांगल्स हिमाचल प्रदेश की प्रमुख जनजातियाँ हैं।
 

विषय: राष्ट्रीय समाचार

6. सरकार ने स्वच्छ आइकॉनिक स्थल उपक्रम के चौथे चरण में 12 प्रतिष्ठित आइकॉनिक स्थलों का चयन किया।

  • जल शक्ति मंत्रालय ने स्वच्छ आइकॉनिक स्थल उपक्रम के चौथे चरण के तहत बारह प्रतिष्ठित आइकॉनिक स्थलों का चयन किया है।
  • स्वच्छ आइकॉनिक स्थल स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के तहत एक पहल है। यह जल शक्ति मंत्रालय के पेयजल और स्वच्छता विभाग द्वारा आवासन और शहरी कार्य मंत्रालय, पर्यटन मंत्रालय, संस्कृति मंत्रालय और संबंधित राज्य/केंद्र शासित क्षेत्र की सरकारों के सहयोग से लागू किया जाता है।
  • स्थलों का चयन करने के पीछे उद्देश्य पर्यटन स्थलों पर स्वच्छता मानकों में सुधार करना है। यह देश में पर्यटन को बढ़ावा देने में भी मदद करेगा।
  • चरण- IV के तहत चयनित प्रतिष्ठित आइकॉनिक स्थल हैं:

अजंता गुफाएं

(महाराष्ट्र)

जैसलमेर किला

(राजस्थान)

सूर्य मंदिर

(ओडिशा)

बांके बिहारी मंदिर (उत्तर प्रदेश)

सांची स्तूप,

(मध्य प्रदेश)

रामदेवरा

(राजस्थान)

रॉक गार्डन

(चंडीगढ़)

आगरा का किला

(उत्तर प्रदेश)

कुंभलगढ़ किला (राजस्थान)

गोलकुंडा फोर्ट

(तेलंगाना)

डल झील

(जम्मू और कश्मीर)

कालीघाट मंदिर

(पश्चिम बंगाल)

  • स्वच्छ भारत मिशन: यह 2014 में शुरू किया गया था। यह भारत सरकार द्वारा खुले में शौच को खत्म करने और ठोस अपशिष्ट प्रबंधन में सुधार करने के लिए एक पहल है।

विषय: अंतर्राष्ट्रीय समाचार

7. ऑस्ट्रेलिया ने एक कानून पारित किया है जिसके तहत गूगल व फेसबुक को समाचार के लिए भुगतान करना होगा।

  • ऑस्ट्रेलिया की संसद ने एक कानून पारित किया है जिसके बाद डिजिटल क्षेत्र की बड़ी कंपनियों, गूगल और फेसबुक को समाचार के लिए उचित भुगतान करना होगा।
  • संसद ने ‘न्यूज मीडिया बारगेनिंग कोड’ में संशोधन करके यह कानून पारित किया है।
  • नया कानून डिजिटल क्षेत्र की बड़ी कंपनियों और स्थानीय मीडिया संगठनों के बीच सौदों को प्रोत्साहित करेगा। यह स्थानीय मीडिया कंपनियों में निवेश लाएगा।
  • यह कानून स्थानीय मीडिया कंपनियों को उनकी खबरों के लिए उचित मूल्य सुनिश्चित करेगा।
  • यदि बड़ी कंपनियों और स्थानीय मीडिया कंपनियों के बीच बातचीत विफल हो जाती है तो एक स्वतंत्र मध्यस्थ उनके लिए दरें निर्धारित करेगा।
  • ऑस्ट्रेलिया इस तरह का कानून पारित करने वाला दुनिया का पहला देश बन गया है।

विषय: अंतर्राष्ट्रीय समाचार

8. पाकिस्तान जून तक एफएटीएफ की ' ग्रे सूची ' में बना रहेगा।

  • फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (एफएटीएफ) ने जून तक पाकिस्तान को अपनी 'ग्रे सूची' में रखने की घोषणा की है।
  • एफएटीएफ ने कहा है कि पाकिस्तान को सभी नामित आतंकवादियों के खिलाफ वित्तीय प्रतिबंधों को प्रभावी ढंग से लागू करना चाहिए और पाकिस्तान को संयुक्त राष्ट्र द्वारा नामित आतंकवादियों और उनके सहयोगियों के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए।
  • एफएटीएफ ने यह भी मांग की कि पाकिस्तान की अदालत को आतंकवाद में शामिल लोगों को प्रभावी, निर्णायक और समानुपातिक सजा देनी चाहिए और पाकिस्तान को आतंकी वित्तपोषण से निपटने के लिए एक प्रभावी प्रणाली का निर्माण करना चाहिए।
  • अक्टूबर 2020 में, एफएटीएफ ने पाकिस्तान को अपनी ग्रे सूची में रखने का फैसला किया था। पाकिस्तान जून 2018 से एफएटीएफ की ग्रे सूची में है।
  • फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (एफएटीएफ):
    • यह एक ग्लोबल मनी-लॉन्ड्रिंग वॉचडॉग है। इसकी स्थापना 1989 में अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय प्रणाली में मनी लॉन्ड्रिंग, टेरर फाइनेंसिंग और अन्य संबंधित खतरों से निपटने के लिए की गई थी।
    • इसका मुख्यालय पेरिस, फ्रांस में है।
    • वर्तमान में, इसमें 39 सदस्य हैं।

Financial Action Task Force

विषय: राष्ट्रीय समाचार

9. सरकार ने सोशल मीडिया चैनलों और ओटीटी प्लेटफार्मों के लिए दिशानिर्देश और आचार संहिता जारी की।

  • केंद्र सरकार ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म, डिजिटल चैनल और ओटीटी प्लेटफॉर्म के लिए दिशानिर्देश और डिजिटल मीडिया आचार संहिता घोषित किया है।
  • सूचना प्रौद्योगिकी (मध्यवर्ती दिशानिर्देश और डिजिटल मीडिया आचार संहिता) नियम 2021 को धारा 87 (2) सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम, 2000 के तहत बनाया गया हैं।
  • सोशल मीडिया से संबंधित दिशा-निर्देशों को इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय द्वारा प्रशासित किया जाएगा, जबकि डिजिटल मीडिया आचार संहिता को सूचना और प्रसारण मंत्रालय द्वारा प्रशासित किया जाएगा।
  • सोशल मीडिया से संबंधित दिशानिर्देशों की मुख्य विशेषताएं:
    • उपयोगकर्ताओं या पीड़ितों की शिकायतों के समाधान के लिए एक शिकायत निवारण तंत्र स्थापित किया जाएगा।
    • सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म को शिकायतों के 24 घंटों के भीतर महिलाओं की नग्नता या छद्मरूप छवियों से संबंधित कंटेंट को हटाना होगा।
    • प्रमुख सोशल मीडिया मध्यस्थों को शिकायत निवारण के लिए एक मुख्य अनुपालन अधिकारी, एक नोडल संपर्क व्यक्ति और एक रेजीडेंट शिकायत अधिकारी की नियुक्ति करनी होगी।
    • सोशल मीडिया मध्यस्थों को सूचना के "पहले प्रवर्तक" की पहचान करनी चाहिए।
  • डिजिटल मीडिया और ओटीटी प्लेटफार्मों से संबंधित डिजिटल मीडिया आचार संहिता की प्रमुख विशेषताएं:
    • ओटीटी प्लेटफार्मों और ऑनलाइन समाचार और डिजिटल मीडिया संस्थाओं द्वारा डिजिटल मीडिया आचार संहिता का पालन किया जाना चाहिए।
    • ओटीटी प्लेटफॉर्म प्लेटफॉर्म को अपनी कंटेंट को पांच श्रेणियों - यू (यूनिवर्सल), यू/ए 7+, यू/ए 13+, यू/ए 16+, और ए (वयस्क) में वर्गीकृत करना चाहिए।
    • स्व-विनियमन के विभिन्न स्तरों के साथ एक तीन-स्तरीय शिकायत निवारण तंत्र स्थापित किया गया है।

विषय: कॉर्पोरेट्स / कंपनियां

10. कॉरपोरेट कार्य मंत्रालय ने निवेशकों को निवेश करने से पहले निधि कंपनी की स्थिति का सत्यापन करने की सलाह दी।

  • कॉरपोरेट कार्य मंत्रालय ने निवेशकों को निवेश करने से पहले निधि कंपनी की स्थिति का सत्यापन करने की सलाह दी है।
  • संशोधित कंपनी अधिनियम, 2013 और निधि नियम 2014 के नियमों के अनुसार, निधि कंपनियों को अपनी स्थिति की सूचना कॉर्पोरेट मंत्रालय को देनी होगी।
  • कॉर्पोरेट मंत्रालय ने अपनी जांच में पाया है कि कई निधि कंपनियों ने नियमों के प्रावधानों का अनुपालन नहीं किया है।
  • निधि कंपनी:
    • यह एक गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनी (NBFC) है।
    • इसका गठन अपने सदस्यों के बीच धन उधार लेने और देने के लिए किया जाता है।
    • उन्हें कॉरपोरेट कार्य मंत्रालय द्वारा विनियमित किया जाता है।
    • इसकी शुरुआत 5 लाख रुपये की शुरुआती पूंजी से की जा सकती है।

विषय: अवसंरचना और ऊर्जा

11. कुशीनगर हवाई अड्डे को अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों के संचालन के लिए डीजीसीए से मंजूरी मिल गई।

  • नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने कुशीनगर हवाई अड्डे को अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों के संचालन के लिए लाइसेंस प्रदान किया।
  • चौधरी चरण सिंह अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे, और लाल बहादुर शास्त्री अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के बाद यह लाइसेंस पाने वाला उत्तर प्रदेश का तीसरा हवाई अड्डा बन गया है। यह अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को संचालित करने वाला भारत का 87 वां हवाई अड्डा बन गया है।
  • डीजीसीए ने कुशीनगर एयरपोर्ट को 4C लाइसेंस देने की मंजूरी दी है। अब, यह घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय दोनों उड़ानों को संचालित कर सकता है।
  • कुशीनगर: यह बौद्ध धर्म के पवित्र स्थानों में से एक है। बुद्ध ने 483 ईसा पूर्व में कुशीनगर में महापरिनिर्वाण (मोक्ष) प्राप्त किया था।
  • नागर विमानन महानिदेशालय (DGCA):
    • यह विमान (संशोधन) विधेयक, 2020 के तहत गठित वैधानिक निकाय है।
    • यह नागरिक विमानों को पंजीकृत करता है, हवाई अड्डों को प्रमाणित करता है, पायलटों और हवाई यातायात नियंत्रकों को लाइसेंस प्रदान करता है और अंतर्राष्ट्रीय नागरिक उड्डयन संगठन (आईसीएओ) के मामलों का समन्वय करता है।
    • यह नागरिक उड्डयन मंत्रालय के तहत काम करता है।
    • इसका मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है।
    • महानिदेशक: अरुण कुमार
 

 

 

0
COMMENTS

Comments


Share Blog