डेली करेंट अफेयर्स और GK | 31 मार्च 2021

Main Headlines:

विषय: कॉर्पोरेट / कंपनी

1. फेसबुक और गूगल अंडर-सी केबल के माध्यम से दक्षिण पूर्व एशिया और अमेरिका को जोड़ेंगे।

  • फेसबुक और गूगल अंडर-सी केबल के माध्यम से दक्षिण पूर्व एशिया और अमेरिका को जोड़ने की योजना बना रहे हैं।
  • यह क्षेत्रों के बीच इंटरनेट कनेक्शन क्षमता बढ़ाने में मदद करेगा।
  • इको और बिफ्रोस्ट नाम के पहले दो केबल जावा सागर को पार करते हुए एक नए विविध मार्ग में बिछाई जाएंगी।
  • केबल पहले उत्तरी अमेरिका और इंडोनेशिया को जोड़ेंगे। "इको" का निर्माण गूगल द्वारा इंडोनेशियाई दूरसंचार की कंपनी एक्स एल एक्सियाटा के साथ 2023 तक किया जाएगा।
  • बिफ्रोस्ट को 2024 तक इंडोनेशिया की टेल्कोम की सहायक कंपनी टेलिन और सिंगापुर की कंपनी केपेल द्वारा बनाया जाएगा।

विषय: रक्षा

2. भारतीय नौसेना बंगाल की खाड़ी में फ्रांस के नेतृत्व वाले “ला पेरेस” संयुक्त अभ्यास में भाग लेगी।

  • भारतीय नौसेना 5 से 7 अप्रैल तक बंगाल की खाड़ी में फ्रांस के नेतृत्व वाले “ला पेरेस” संयुक्त अभ्यास में भाग लेगी।
  • ऑस्ट्रेलिया, जापान और अमेरिका के नौसेना भी इस संयुक्त अभ्यास में भाग लेंगे।
  • तीन दिन तक चलने वाले इस संयुक्त अभ्यास में समुद्री अभ्यास, विदेश में संचार प्रणाली, जटिल युद्ध संचालन आदि शामिल होंगे।
  • 'ला पेरेस' संयुक्त अभ्यास के बाद, भारत और फ्रांस के बीच वरुण नौसेना अभ्यास आयोजित किया जाएगा। इस साल संयुक्त अरब अमीरात भी इस अभ्यास में भाग लेगा।
  • हाल ही में, भारतीय नौसेना ने मालाबार अभ्यास और वियतनाम के साथ पैसेज अभ्यास में भाग लिया हैं।

मालाबार 2020

भारत, संयुक्त राज्य अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और जापान

नौसेना

शक्ति

 

भारत -फ्रांस

 

आर्मी

वरुण

नौसेना

गरूड़

वायु सेना

विषय: अंतर्राष्ट्रीय समाचार

3. चीन और ईरान के बीच 25 साल के "रणनीतिक सहयोग समझौते" पर हस्ताक्षर किए गए।

  • चीन और ईरान के बीच 25 साल के "रणनीतिक सहयोग समझौते" पर हस्ताक्षर किए गए।
  • इस समझौते पर चीनी विदेश मंत्री वांग यी और उनके ईरानी समकक्ष जवाद ज़रीफ़ ने हस्ताक्षर किए।
  • चीनी विदेश मंत्री वांग यी पश्चिम एशिया के छह देशों के दौरे पर हैं। वह सऊदी अरब, तुर्की, ईरान, यूएई, बहरीन और ओमान का दौरा कर रहे हैं।
  • समझौते का विवरण तत्काल उपलब्ध नहीं है। लेकिन इसमें राजनीतिक, रणनीतिक और आर्थिक घटक शामिल हैं।
  • इस हफ्ते की शुरुआत में, चीन और रूस ने औपचारिक रूप से अमेरिका से जल्द से जल्द संयुक्त व्यापक कार्य योजना (जेसीपीओए) पर लौटने का अनुरोध किया था।
  • जेसीपीओए जुलाई 2015 में ईरान और पी 5 + 1 (चीन, फ्रांस, जर्मनी, रूस, ब्रिटेन और अमेरिका) द्वारा किया गया समझौता है। जेसीपीओए को आमतौर पर ईरान परमाणु समझौते या ईरान सौदे के रूप में जाना जाता है।
  • इसे 2015 में अंतिम रूप दिया गया और अपनाया गया। हालांकि, इसे जनवरी 2016 में लागू किया गया था।

विषय: नियुक्तियां

4. सोमा मोंडल सार्वजनिक उपक्रम स्थायी सम्मेलन (स्कोप) के नए अध्यक्ष के रूप में चुनी गईं।

  • सेल की अध्यक्ष सोमा मोंडल को सार्वजनिक उपक्रम स्थायी सम्मेलन (स्कोप) का नया अध्यक्ष चुना गया है।
  • भारतीय अक्षय ऊर्जा विकास एजेंसी (आईआरईडीए) के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक प्रदीप कुमार दास को द्विवार्षिक (दो साल में एक बार) चुनावों के बाद उपाध्यक्ष की भूमिका दी गई है।
  • आर.के. सिन्हा, रंजन कुमार महापात्र, अमिताभ बनर्जी और आलोक वर्मा अन्य सदस्य हैं जो दो साल (2021-23) के कार्यकाल के लिए (स्कोप) के कार्यकारी बोर्ड के लिए चुने गए हैं।
  • स्कोप केंद्र सरकार के सार्वजनिक उपक्रमों का प्रतिनिधित्व करने वाला एक संगठन है।
  • सोमा मोंडल स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (सेल) की वर्तमान अध्यक्ष हैं। वह स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (सेल) की पहली महिला अध्यक्ष हैं।

विषय: राष्ट्रीय समाचार

5. केंद्र भारत के प्रत्येक भूखंड के लिए 14-अंकीय पहचान संख्या जारी करने की योजना बना रहा है।

  • केंद्र एक वर्ष के भीतर भारत में भूमि के हर भूखंड के लिए 14 अंकों की पहचान संख्या जारी करने की योजना बना रहा है।
  • भूमि संसाधन विभाग के अनुसार, इस वर्ष 10 राज्यों में विशिष्ट भूमि पार्सल पहचान संख्या (यूनीक लैंड पार्सल आइडेंटिफिकेशन नंबर, यूएलपीआईएन) योजना शुरू की गई। यूएलपीआईएन मार्च 2022 तक पूरे भारत में लॉन्च किया जाएगा।
  • लैंड पार्सल की पहचान उसके देशांतर और भूमि निर्देशांक के आधार पर की जाएगी। यह डीआईएलआरऍमपी का अगला चरण है।
  • डिजिटल इंडिया लैंड रिकॉर्ड्स आधुनिकीकरण कार्यक्रम (डीआईएलआरऍमपी) 2008 में शुरू हुआ। इसे कई बार बढ़ाया गया। अब, विभाग ने 2023-2024 तक और बढ़ाने का प्रस्ताव दिया है।
  • एनजीडीआरएस (नेशनल जेनेरिक डॉक्यूमेंट रजिस्ट्रेशन सिस्टम) भी डीआईएलआरऍमपी के तहत विभाग द्वारा की गई एक पहल है।

विषय: पुरस्कार और सम्मान

6. डॉ शरणकुमार लिम्बाले को सरस्वती सम्मान 2020 प्रदान किया जायेगा।

  • डॉ शरणकुमार लिम्बाले को उनकी पुस्तक ‘सनातन’ के लिए सरस्वती सम्मान 2020 मिलेगा।
  • डॉ शरणकुमार लिम्बाले एक प्रसिद्ध मराठी लेखक हैं। उनकी पुस्तक सनातन 2018 में प्रकाशित हुई थी।
  • ‘सनातन’ दलित संघर्ष का एक महत्वपूर्ण सामाजिक और ऐतिहासिक दस्तावेज है।
  • सरस्वती सम्मान में पंद्रह लाख रुपये, एक प्रशस्ति पत्र और एक पट्टिका शामिल है। इसकी शुरुआत 1991 में के के बिड़ला फाउंडेशन ने की थी।
  • इसे देश में सबसे प्रतिष्ठित और सर्वोच्च साहित्यिक पुरस्कार के रूप में मान्यता प्राप्त है।
  • डॉ शरणकुमार लिम्बाले अपनी आत्मकथा अककारर्माशी के लिए सबसे ज्यादा जाने जाते हैं। द आउटकास्ट, अककारर्माशी के अंग्रेजी अनुवाद का शीर्षक है। डॉ लिम्बाले द्वारा टुवर्ड्स एन एस्थेटिक्स ऑफ़ दलित लिटरेचर एक और उल्लेखनीय कार्य है।

विषय: खेल

7. भारत आईसीसी पुरुष क्रिकेट विश्व कप सुपर लीग के सातवें स्थान पर पहुंच गया।

  • भारत आईसीसी पुरुष क्रिकेट विश्व कप सुपर लीग के सातवें स्थान पर पहुंच गया है।
  • तीसरे वनडे में भारत ने इंग्लैंड पर सात रनों से जीत दर्ज की। श्रृंखला में, भारत ने इंग्लैंड पर 2-1 से जीत दर्ज की।
  • हालांकि, इंग्लैंड आईसीसी पुरुष क्रिकेट विश्व कप सुपर लीग में शीर्ष स्थान पर बनी हुई है।
  • सुपर लीग की शुरुआत जुलाई 2020 में आयरलैंड के खिलाफ इंग्लैंड की तीन मैचों की श्रृंखला के साथ हुई थी।
  • सुपर लीग में आईसीसी के 12 पूर्ण सदस्य और नीदरलैंड भाग ले रहे हैं।
  • सुपर लीग 2023 तक होगी। यह 2023 क्रिकेट विश्व कप योग्यता प्रक्रिया का एक हिस्सा है।
  • सुपर लीग में शीर्ष आठ टीमें 2023 विश्व कप के लिए लिए स्वत: क्वालीफाई कर जाएंगी। 2023 विश्व कप भारत में होने वाला है।

India reaches seventh position on ICC Men’s Cricket World Cup Super League

(Source: News on AIR)

 

विषय: रिपोर्ट और संकेत

8. नीति आयोग ने ‘भारत के स्‍वास्‍थ्‍य सेवा क्षेत्र में निवेश के अवसर’ रिपोर्ट जारी की।

  • नीति आयोग ने ‘भारत के स्‍वास्‍थ्‍य सेवा क्षेत्र में निवेश के अवसर’ पर एक रिपोर्ट जारी की। इसमें अस्पतालों, चिकित्सा उपायों और उपकरणों, स्वास्थ्य बीमा, टेली मेडिसिन, आदि में निवेश के अवसर शामिल हैं।
  • स्‍वास्‍थ्‍य देखभाल क्षेत्र भारतीय अर्थव्यवस्था के महत्वपूर्ण क्षेत्रों में से एक है। स्‍वास्‍थ्‍य देखभाल उद्योग 2016 से 22% की दर से बढ़ रहा है और 2022 में इसके 372 बिलियन अमरीकी डॉलर तक पहुंचने की उम्मीद है।
  • बड़ी उम्र की आबादी, बढ़ता हुआ मध्‍य वर्ग, जीवन शैली की बीमारियों के बढ़ते अनुपात, पीपीपी पर बढ़ता जोर और डिजिटल प्रौद्योगिकियों जैसे कई कारकों ने भारतीय स्‍वास्‍थ्‍य देखभाल क्षेत्र के विकास में योगदान दिया है।
  • रिपोर्ट का विवरण:
    • यह पहले भाग में स्‍वास्‍थ्‍य देखभाल क्षेत्र की रोजगार सृजन क्षमता और मौजूदा व्‍यावसायिक और निवेश संबंधी माहौल के बारे में जानकारी प्रदान करता है।
    • दूसरा खंड स्‍वास्‍थ्‍य देखभाल क्षेत्र की प्रगति के प्रमुख कारकों पर प्रकाश डालता है।
    • तीसरे खंड में, यह अस्पताल, स्वास्थ्य बीमा, फार्मास्यूटिकल्स और जैव प्रौद्योगिकी, चिकित्सा उपकरणों, चिकित्सा पर्यटन, आदि में नीतियों और निवेश के अवसरों को विस्तृत करता है।
    • यह टियर -2 और टियर -3 शहरों में निजी अस्पताल के विस्तार पर जोर देता है।
    • इसने प्रदर्शन से जुड़ी प्रोत्साहन योजनाओं के माध्यम से फार्मास्यूटिकल्स के घरेलू विनिर्माण का समर्थन किया।
    • यह भारतीय स्वास्थ्य प्रणाली में कृत्रिम बुद्धिमत्‍ता (आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस) और अन्य मोबाइल प्रौद्योगिकी की संभावनाओं पर भी प्रकाश डालता है।

विषय: विविध

9. जबलपुर में ट्राइब्स इंडिया के स्टोर का उद्घाटन किया गया।

  • ट्राइफेड ने 25 मार्च 2021 को जबलपुर में अपना 131 वां शोरूम खोला। यह मध्य प्रदेश में ट्राइब्स इंडिया का तीसरा आउटलेट है।
  • ट्राइफेड के खुदरा आउटलेट के विस्तार का मुख्य उद्देश्य आदिवासी लोगों को सशक्त बनाना है। यह उनके उत्पादों के लिए उचित मूल्य प्राप्त करने में उनकी मदद करेगा।
  • शोरूम में भारत के सभी राज्यों के जनजातीय हस्तशिल्प और हथकरघा होंगे। शोरूम में वन धन के उत्पाद जैसे कि प्रतिरक्षा बूस्टर, जैविक अनाज, मसाले, हर्बल चाय आदि भी होंगे।
  • ट्राइफेड, ट्राइब्स इंडिया ब्रांड के तहत, भारत में आदिवासी से सीधे खरीदे जाने वाले दस्तकारी उत्पादों का विपणन करता है।
  • ट्राइफेड:
    • इसकी स्थापना 1987 में हुई थी।
    • इसका उद्देश्य जनजातीय उत्पादों के विपणन के माध्यम से देश में आदिवासी लोगों के सामाजिक और आर्थिक विकास करना है।
    • यह आदिवासी कल्याण के लिए राष्ट्रीय नोडल एजेंसी है।
    • यह जनजातीय मामलों के मंत्रालय के तहत काम करता है।

TRIBES India store inaugurated in Jabalpur

(Source: DD News)

विषय: खेल

10. आईसीसी महिला विश्व कप 2022: 'गर्ल गैंग' टूर्नामेंट का आधिकारिक गीत होगा।

  • आईसीसी महिला विश्व कप 2022 के लिए गिंग विगमोर का गीत ‘गर्ल गैंग’, महिला सशक्तिकरण गान, आधिकारिक गीत होगा।
  • यह टूर्नामेंट 4 मार्च से 3 अप्रैल 2022 तक निर्धारित है और इसकी मेजबानी न्यूजीलैंड करेगा।
  • 2022 आईसीसी महिला क्रिकेट विश्व कप महिला क्रिकेट विश्व कप का बारहवां संस्करण होगा।
  • यह मूल रूप से 6 फरवरी से 7 मार्च 2021 के लिए निर्धारित किया गया था, लेकिन कोविड-19 महामारी के कारण एक वर्ष के लिए स्थगित कर दिया गया।
  • अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद:
    • अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद क्रिकेट की वैश्विक शासी निकाय है।
    • यह 1909 में ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका के प्रतिनिधियों द्वारा इंपीरियल क्रिकेट सम्मेलन के रूप में स्थापित किया गया था।
    • इसका मुख्यालय दुबई, संयुक्त अरब अमीरात में है।
    • इसके अध्यक्ष ग्रेग बार्कले हैं।
    • इसके सीईओ मनु साहनी हैं।

विषय: अंतर्राष्ट्रीय समाचार

11. कांगो के राष्ट्रपति डेनिस ससौ नगेसो को 88% वोट के साथ फिर से चुना गया।

  • कांगो गणराज्य के राष्ट्रपति डेनिस ससौ नगेसो ने 88.57 प्रतिशत वोट के साथ चुनाव जीता है। एकमात्र मुख्य प्रतिद्वंद्वी गाइ-ब्राइस पारफाइट कोलेलास (Guy Brice Parfait Kolelas) ने 7.84 प्रतिशत वोट हासिल किया है।
  • अपने 36 साल के लंबे करियर में, वह पहली बार 1979 में सत्ता में आए।
  • 2015 में, उन्होंने संविधान में सुधार किया और चुनाव लड़ने के लिए 70 साल की आयु-सीमा को हटा दिया, ताकि वह अगले चुनाव में लड़ सकें।
  • कांगो गणराज्य:
    • यह एक अफ्रीकी देश है।
    • इसकी राजधानी ब्रेज़्ज़ाविल है।
    • इसकी मुद्रा सेंट्रल अफ्रीकन सीएफए फ्रांक है।
    • क्लेमेंट मौम्बा कांगो के वर्तमान प्रधान मंत्री हैं।

President Denis Sassou Nguesso

विषय: रिपोर्ट और संकेत

12. ग्लोबल विंड एनर्जी काउंसिल ने ग्लोबल विंड एनर्जी 2021 रिपोर्ट जारी की।

  • ग्लोबल विंड एनर्जी काउंसिल की वार्षिक रिपोर्ट के 16 वें संस्करण को COP26 के सम्मेलन से पहले जारी किया गया है।
  • ग्लोबल विंड एनर्जी काउंसिल (जीडब्ल्यूइसी) की एक नई रिपोर्ट के अनुसार, 2020 में हवा से बिजली पैदा करने की क्षमता 53 प्रतिशत बढ़ी है।
  • वर्ष 2020 में, 93 गीगावाट क्षमता स्थापित की गई। रिपोर्ट बताती है कि यह दुनिया के लिए 2050 तक 'शुद्ध शून्य' उत्सर्जन स्थिति तक पहुंचने के लिए पर्याप्त नहीं है।
  • रिपोर्ट के अनुसार, दुनिया को हर साल न्यूनतम 180 गीगावॉट नई पवन ऊर्जा क्षमता स्थापित करने की जरूरत है।
  • चीन और यूएसए 2020 में पवन ऊर्जा के सबसे बड़े अस्थापक( इंस्टॉलर) थे, दोनों ने 2020 में स्थापित कुल पवन ऊर्जा का 75% स्थापित किया।
  • दुनिया भर में, वर्तमान में कुल 743 गीगावाट पवन ऊर्जा क्षमता स्थापित है।
 

 

 

Share Blog