डेली करेंट अफेयर्स और GK | 01 अप्रैल 2020

2020-04-01

1. सरकार ने छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दरों में कटौती की।

  • सरकार ने छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दरों में 1.4% कटौती की है।
  • सरकार ने हाल ही में 2020-21 की पहली तिमाही के लिए राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र और सार्वजनिक भविष्य निधि सहित छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दरों में कटौती की है, यह कटौती बैंक जमा दरों में मॉडरेशन के अनुरूप है।
  • छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दरों को तिमाही आधार पर अधिसूचित किया जाता है।
  • इस कमी के बाद 1-3 साल की अवधि की जमा राशि पर अब ब्याज दर मौजूदा 6.9% से 5.5% पर आ जायेगी।
  • जबकि पांच साल की अवधि की जमा राशि पर ब्याज दर मौजूदा 7.7% से 6.7% पर आ जाएगी।
  • राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र जिसे लोकप्रिय रूप से एनएससी के नाम से जाना जाता है, भारत सरकार का एक बचत बांड है, जिसका उपयोग मुख्य रूप से भारत में छोटी बचत और आयकर बचत निवेश के लिए किया जाता है।
  • पब्लिक प्रॉविडेंट फंड को 1968 में भारत में निवेश के रूप में छोटी बचत जुटाने के उद्देश्य से शुरू किया गया था। भारत में एक बचत-सह-कर बचत का साधन है।

2. उच्चतम न्यायालय ने कोविड-19 पर चर्चा करने का अधिकार दिया।

  • हाल ही में उच्चतम न्यायालय ने कोविड-19 (COVID-19) पर चर्चा करने का अधिकार दिया है।
  • भारत के मुख्य न्यायाधीश शरद ए. बोबडे की अगुवाई वाली एक बेंच ने केंद्र सरकार के एक अनुरोध के जवाब में यह फैसला सुनाया है।
  • सुप्रीम कोर्ट ने मीडिया को निर्देश दिया कि अफवाह और बड़े पैमाने पर घबराहट से बचने के लिए, वह दैनिक घटनाक्रम के आधिकारिक संस्करण को प्रकाशित करें।
  • इसके साथ ही सरकार को अगले 24 घंटों में सभी मीडिया के माध्यमों से कोविड-19 के विकास पर एक दैनिक बुलेटिन शुरू करने का भी आदेश दिया।
  • ज्ञातव्य है कि आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 के तहत आतंक पैदा करना भी एक अपराध है।

3. स्वास्थ्य मंत्रालय ने हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन संयोजन की अनुमति प्रदान की।

  • हाल ही में स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोविड-19 के मरीजों के लिए हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन के साथ एज़िथ्रोमाइसिन के उपयोग की अनुमति दे दी है।
  • परंतु इसके लिए कोविड-19 के नैदानिक ​​प्रबंधन पर संशोधित दिशानिर्देशों के अनुसार, विशेष निगरानी और आईसीयू प्रबंधन की आवश्यकता है।
  • वर्तमान में यह दवा 12 वर्ष से कम उम्र के बच्चों, गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए अनुशंसित नहीं की गई है।
  • हालांकि यह निर्णय वर्तमान परिस्थितियों के अनुकूल है, जिसकी समय-समय पर समीक्षा की जाएगी।
  • एज़िथ्रोमाइसिन का उपयोग बैक्टीरिया से होने वाले विभिन्न प्रकार के संक्रमणों, जैसे श्वसन संक्रमण, त्वचा संक्रमण, कान के संक्रमण, आँखों के संक्रमण और यौन संचारित रोगों के उपचार के लिए किया जाता है।

4. डी. लक्ष्मीनारायणन को सुंदरम फाइनेंस लिमिटेड का प्रबंध निदेशक बनाया गया।

  • हाल ही में डी. लक्ष्मीनारायणन को सुंदरम फाइनेंस लिमिटेड के प्रबंध निदेशक के पद पर पदोन्नत किया गया है।
  • उन्होंने 1 अप्रैल से अपना पदभार ग्रहण कर लिया है।
  • श्री लक्ष्मीनारायण, एक दशक से अधिक समय से सुंदरम फाइनेंस ग्रुप के साथ हैं।
  • वे श्रीनिवास आचार्य का स्थान लेंगे, जो 31 मार्च 2020 को सेवानिवृत्त हुए हैं।
  • श्री आचार्य लगभग चार दशकों से सुंदरम फाइनेंस ग्रुप का हिस्सा थे और 2010 से कंपनी के एमडी के पद पर आसीन थे। 
  • सुंदरम फाइनेंस लिमिटेड:
    • सुंदरम फाइनेंस लिमिटेड भारत में एक वित्तीय और निवेश सेवा प्रदाता कंपनी है। यह चेन्नई में स्थित है और देश भर में इसकी 640 से अधिक शाखाएँ हैं।
    • इसकी स्थापना 1954 में टी. एस. संथानम के द्वारा की गई थी।

5. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान मुम्बई ने एक पोर्टेबल अल्ट्रावायलेट सैनिटाइज़र बनाया है।

  • हाल ही में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, बॉम्बे के औद्योगिक डिजाइन केंद्र ने एक पोर्टेबल अल्ट्रावायलेट सैनिटाइज़र विकसित किया है।
  • यह सैनिटाइज़र एक हाथ से दूसरे हाथ में जाने वाले पर्स, और अन्य छोटी वस्तुओं को क्लीन करता है।
  • यह यूवी सैनिटाइज़र स्टेनलेस स्टील के रसोई के कंटेनरों और एल्यूमीनियम जाली का उपयोग करके बनाया गया है और अभी यह अवधारणा सत्यापन की स्थिति में है।
  • यह सैनिटाइज़र डिजाइन यूएस नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन द्वारा पबमेड नामक पत्रिका में प्रकाशित एक अध्ययन पर आधारित है।
  • अध्ययन दर्शाता है कि पराबैंगनी सी लाइट गंभीर तीव्र श्वसन सिंड्रोम कोरोनावायरस, क्रीमियन-कांगो हेमोरेजिक बुखार वायरस और निप्पा वायरस को कैसे निष्क्रिय करता है।
  • इस सैनिटाइजिंग जेल का उपयोग कागज, फाइल, मुद्रा, नोट और फोन आदि वस्तुओं पर नहीं किया जा सकता है।

6. बिहार में 2020 का एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) का पहला मामला दर्ज।

  • हाल ही में बिहार में 2020 में एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम (AES) का पहला मामला दर्ज किया गया है।
  • स्थानीय रूप से इसे चमकी बुखार के रूप में जाना जाता है, इसने बिहार में पिछले एक दशक में 500 से अधिक बच्चों की जान ली है।
  • बिहार में मुजफ्फरपुर, वैशाली, सीतामढ़ी, समस्तीपुर, शेहर और पूर्व और पश्चिम चंपारण सबसे अधिक प्रभावित क्षेत्रों में शामिल थे।
  • एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम(AES):
    • यह भारत में एक गंभीर सार्वजनिक स्वास्थ्य समस्या है।
    • बुखार और मानसिक भ्रम की स्थिति इसके प्रमुख लक्षण है।
    • यह बीमारी बच्चों और युवा वयस्कों को सबसे अधिक प्रभावित करती है।
    • एईएस मुख्यतः वायरस के कारण होता है हालांकि बैक्टीरिया, कवक, परजीवी, स्पाइरोकेट्स, रसायन, विषाक्त पदार्थ और गैर-संक्रामक एजेंट भी इसके लिए उत्तरदायी कारक हो सकते हैं।

7. केंद्र सरकार ने सीजीएचएस के तहत सूचीबद्ध स्वास्थ्य संगठनों की वैधता बढा दी है।

  • हाल ही में केंद्र सरकार ने केंद्रीय सरकार स्वास्थ्य योजना (CGHS) के तहत सूचीबद्ध स्वास्थ्य संगठनों की वैधता बढा दी है।
  • यह सूची इस वर्ष 30 जून या सूचीबद्ध करने की अगली तारीख में से जो भी पहले हो तब तक ही मान्य मानी जाएगी।
  • इस स्थिति में नियम तथा दरें पहले के समान ही होंगी।
  • सभी अस्पताल और निदान केंद्र, राष्ट्रीय मान्यता बोर्ड (NABL) द्वारा मान्यता प्राप्त जांच के लिए, बोर्ड की दरों पर ही सेवाएं देंगे।
  • अन्य किसी जांच के लिए गैर एन ए बी एल दर से शुल्क लिया जा सकता है। 
  • केंद्र सरकार स्वास्थ्य योजना, केंद्रीय सरकार के कर्मचारियों के लिए व्यापक स्वास्थ्य देखभाल सुविधाएं प्रदान करती है। इसे 1954 में नई दिल्ली में शुरू किया गया था। 
  • नेशनल एक्रीडिटेशन बोर्ड फॉर टेस्टिंग एंड कैलिब्रेशन लेबोरेटरीज (NABL):
    • नेशनल एक्रीडिटेशन बोर्ड फॉर टेस्टिंग एंड कैलिब्रेशन लेबोरेटरीज विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग, सरकार के मार्गदर्शन में एक स्वायत्त निकाय है।
    • इसका उद्देश्य देश में नैदानिक प्रयोगशालाओं के परीक्षण को मान्यता प्रदान करना है।
    • इसकी स्थापना 1988 में की गई थी।
    • इसका मुख्यालय गुरुग्राम, हरियाणा में स्थित है।

 

आज का विषय – “प्रायद्विपीय नदियाँ

प्रायद्वीपीय नदी प्रणाली, हिमालय नदी प्रणाली से बहुत प्राचीन है। यह व्यापक, बड़े पैमाने पर वर्गीकृत उथले घाटियों और नदियों की परिपक्वता से साफ स्पष्ट होता है।

प्रायद्विपीय नदियों की विशेषताएं इस प्रकार हैं-

  • ये नदियां वर्षा आधारित, प्रकृति से मौसमी होती हैं ना कि सदानीरा। गर्मियों के दौरान उनमें पानी की मात्रा काफी कम हो जाती है।
  • चौड़ी और उथली घाटियां इन नदियों की विशेषता है।
  • ये कठोर चट्टान से होकर बहती हैं। उनकी अपरदन क्रिया बहुत कम होती है।
  • अतः इनमें गाद और रेत की कमी होती है।
  • कम ढाल के कारण इन नदियों में पानी का वेग और भार वहन क्षमता कम होती है।
  • प्रायद्वीप की अधिकांश प्रमुख नदियाँ जैसे महानदी, गोदावरी, कृष्णा और कावेरी पूर्व की ओर बहती हैं और बंगाल की खाड़ी में गिरती हैं, जबकि नर्मदा और तापी केवल दो नदियाँ हैं जो पश्चिम की ओर बहती हैं और अरब सागर में गिरती हैं।

1. नर्मदा - इसे मध्य प्रदेश व गुजरात की जीवन रेखा भी कहा जाता है। यह रिफ्ट घाटी से होकर बहती है।

स्रोत- अमरकंटक पहाड़, मध्य प्रदेश

विसर्जन- अरब सागर

सहायक नदियाँ- शेर, शकर, दुधी, तवा, गंजाल, हिरण, बारना, चोरल, करम और लोहार महत्वपूर्ण सहायक नदियाँ हैं।

2. तापी - तापी नदी महाराष्ट्र, गुजरात और मध्य प्रदेश राज्यों से रिफ्ट घाटी से होकर बहती है।

स्रोत - सतपुड़ा रेंज, मध्य प्रदेश

विसर्जन - अरब सागर

सहायक नदियाँ- पूर्णा, गिरना और पंजहरा तीन प्रमुख सहायक नदियाँ हैं।

3. महानदी- महानदी को हीराकुंड बांध के लिए भी जाना जाता है। यह नदी छत्तीसगढ़ और ओडिशा राज्यों से होकर बहती है।

स्रोत - छत्तीसगढ़ में सिहावा पर्वत

विसर्जन- बंगाल की खाड़ी

सहायक नदियाँ- महानदी की प्रमुख सहायक नदियाँ सोंठ, जोंक, हसदो, मंड, इब, ओंग, तेल आदि हैं ।

4. गोदावरी - गंगा के बाद गोदावरी भारत की दूसरी सबसे लंबी नदी है। इसे दक्षिण की गंगा की संज्ञा भी प्राप्त है।

स्रोत- महाराष्ट्र का त्रयंबकेश्वर पर्वत

विसर्जन - बंगाल की खाड़ी

सहायक नदियाँ- पूर्णा, प्राणहिता, इंद्रावती, प्रवर, मंजीरा, मनियर और सबरी नदी की प्रमुख सहायक नदियां है। 

5. कृष्णा - कृष्णा नदी गंगा भारत में जल प्रवाह और नदी बेसिन क्षेत्र के मामले में चौथी सबसे बड़ी नदी है।

स्रोत - महाबलेश्वर, महाराष्ट्र

विसर्जन - बंगाल की खाड़ी

सहायक नदियाँ- वेन्ना, कोयना, पंचगंगा, दुग्धगंगा, घाटप्रभा, मालाप्रभा और तुंगभद्रा आदि कृष्णा की प्रमुख सहायक नदियाँ हैं।

6. कावेरी- कावेरी एक भारतीय नदी है, जो कर्नाटक और तमिलनाडु राज्यों से होकर बहती है। यह गोदावरी और कृष्णा के बाद दक्षिण भारत में तीसरी सबसे बड़ी नदी है। इसके जल बंटवारे को लेकर तमिलनाडु व कर्नाटक राज्यों में विवाद चल रहा है।

स्रोत- ब्रह्मगिरि पहाडियाँ, कर्नाटक

विसर्जन - बंगाल की खाड़ी

सहायक नदियाँ- हरंगी, हेमवती, शिमश, अर्कावती इसकी प्रमुख सहायक नदियां हैं।

 

समसामयिक प्रश्नोत्तर

1. हाल ही में सरकार ने छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दरों में कितने प्रतिशत की कटौती की है?

  1. 2
  2. 3
  3. 1.4
  4. 1.5

2. हाल ही में उच्चतम न्यायालय की बैंच ने कोविड-19 पर चर्चा करने का अधिकार दिया है, इस बैंच की अध्यक्षता किसने की थी?

  1. एस. ए. बोबडे
  2. मदन भीमराव लोकुर
  3. ए. एस.बोपन्ना
  4. के. जी .बालाकृष्णन

3. एज़िथ्रोमाइसिन किस प्रकार के संक्रमण में प्रयोग की जाती है?

  1. श्वसन संक्रमण
  2. यौन संचारित संक्रमण
  3. आँखों के संक्रमण
  4. उपरोक्त सभी

4. सुंदरम फाइनेंस लिमिटेड का प्रबंध निदेशक किसे बनाया गया है?

  1. डी. लक्ष्मीनारायणन
  2. बी. सुंदरम्
  3. एस. कल्याणम्
  4. सुकुमार स्वामी

5. हाल ही में एक पोर्टेबल अल्ट्रावायलेट सैनिटाइज़र किस भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान ने बनाया है?

  1. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, दिल्ली
  2. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, गोवाहाटी
  3. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, बॉम्बे
  4. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, इंदौर

6. एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम के संबंध में क्या सही नहीं है?

  1. यह भारत में एक गंभीर सार्वजनिक स्वास्थ्य समस्या है।
  2. बुखार और मानसिक भ्रम की स्थिति इसका प्रमुख लक्षण है।
  3. यह बीमारी बच्चों और युवा वयस्कों को सबसे अधिक प्रभावित करती है।
  4. एईएस केवल वायरस के कारण होता है।

7. नेशनल एक्रीडिटेशन बोर्ड फॉर टेस्टिंग एंड कैलिब्रेशन लेबोरेटरीज का मुख्यालय कहां स्थित है?

  1. हरियाणा
  2. कर्नाटक
  3. उत्तर प्रदेश
  4. नई दिल्ली

 

उत्तर

1. C

2. A

3. D

4. A

5. C

6. D

7. A

 

 

Share Blog


Loading Comments