डेली करेंट अफेयर्स और GK | 10 जून 2021

Main Headlines:

विषय: अंतर्राष्ट्रीय समाचार

1. अल साल्वाडोर बिटकॉइन को वैध मुद्रा घोषित करने वाला पहला देश बन गया है।

  • अल साल्वाडोर बिटकॉइन को वैध मुद्रा के रूप में अपनाने वाला पहला देश बन गया है।
  • बिटकॉइन को वैध मुद्रा के रूप में अपनाने के प्रस्ताव को अल सल्वाडोर की कांग्रेस ने मंजूरी दे दी है।
  • अल साल्वाडोर के राष्ट्रपति, बुकेले का मानना ​​​​था कि बिटकॉइन देश में रोजगार पैदा करेगा और वित्तीय समावेश को बढ़ावा देगा।
  • अल साल्वाडोर के लोग लेनदेन के लिए पहले से ही बिटकॉइन का उपयोग कर रहे हैं।

El Salvador becomes first country to declare bitcoin as legal tender

 

विषय: खेल

2. ओमान पहले एफआईएच हॉकी 5 विश्व कप की मेजबानी करेगा।

  • अंतर्राष्ट्रीय हॉकी महासंघ (एफआईएच) के कार्यकारी बोर्ड ने घोषणा की है कि ओमान 2024 में पहले हॉकी 5 विश्व कप (पुरुष और महिला) की मेजबानी करेगा। मैच ओमान की राजधानी मस्कट में होंगे।
  • भारत और पाकिस्तान ने भी इस आयोजन की मेजबानी के लिए बोली लगाई थी।
  • हॉकी 5 विश्व कप अंतर्राष्ट्रीय हॉकी महासंघ (एफआईएच) की एक नई प्रतियोगिता है। इस प्रतियोगिता में हर एक लिंग की सोलह टीमें भाग लेंगी।
  • हॉकी 5 विश्व कप दुनिया भर में हॉकी के विकास में मदद करेगा। इसकी घोषणा एफआईएच के कार्यकारी बोर्ड ने 2019 में की थी।
 

विषय: समझौता ज्ञापन / समझौते

3. आईसीएआर ने टेली कृषि सलाह प्रदान करने के लिए डिजिटल इंडिया कॉरपोरेशन के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए।

  • डिजिटल इंडिया कॉर्पोरेशन और भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद ने किसानों को 'मांग आधारित टेली कृषि सलाह' प्रदान करने के लिए एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए।
  • समझौता ज्ञापन का मुख्य उद्देश्य आईसीएआर के प्रस्तावित किसान सारथी कार्यक्रम के साथ डीआईसी के मौजूदा इंटरएक्टिव सूचना प्रसार प्रणाली (आईआईडीएस) प्लेटफॉर्म को एकीकृत करना है।
  • आईसीएआर और डीआईसी कृषि गतिविधियों के लिए एक मल्टी-मीडिया, मल्टी-वे एडवाइजरी और संचार प्रणाली स्थापित करने और संचालित करने पर सहमत हुए।
  • आईसीएआर में एक इंटरैक्टिव सूचना प्रसार प्रणाली (आईआईडीएस) स्थापित की जाएगी। इससे किसान फोन पर कृषि गतिविधियों से संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकेंगे।
  • वर्तमान में, आईआईडीएस प्लेटफॉर्म पूर्वोत्तर राज्यों, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में तैनात हैं। इसे पूरे भारत में विस्तारित किया जाएगा।
  • डिजिटल इंडिया कॉर्पोरेशन आईसीटी प्लेटफॉर्म के विकास, होस्टिंग और प्रबंधन के लिए तकनीकी सहायता प्रदान करेगा।
  • डिजिटल इंडिया कॉर्पोरेशन:
    • यह इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के तहत एक गैर-लाभकारी कंपनी है।
    • यह ई-गवर्नेंस परियोजनाओं के लिए क्षमता निर्माण में सरकार की मदद करता है और विभिन्न डोमेन में नवाचार को बढ़ावा देता है।

ICAR Signed MoU with Digital India Corporation

(Source: PIB)

विषय: राष्ट्रीय समाचार

4. सरकार ने दिव्यांग बच्चों के लिए ई-कंटेंट का विकास करने के लिए दिशा निर्देश जारी किए।

  • केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल 'निशंक' ने दिव्यांग बच्चों के लिए -कंटेंट विकसित करने के लिए दिशानिर्देश जारी किए।
  • नए दिशानिर्देशों के अनुसार, ई-कंटेंट को समझने योग्य, लागू किए जाने योग्य, समझ में आने योग्य तथा सुदृढ़ता के सिद्धांतों के आधार पर विकसित किया जाना चाहिए।
  • दिशानिर्देश दिव्यांग बच्चों की डिजिटल शिक्षा के लिए उच्च गुणवत्ता वाली कंटेंट बनाने में मदद करेंगे।
  • स्कूल शिक्षा और साक्षरता विभाग के विशेषज्ञों की एक समिति द्वारा नए दिशानिर्देशों की सिफारिश की गई थी।
  • समिति ने सुझाव दिया है कि पाठ्यपुस्तकों को चरणबद्ध तरीके से सुगम्य डिजिटल पाठ्यपुस्तकों (एडीटी) में रूपांतरित किया जाना चाहिए। कंटेंट पाठ, ऑडियो, वीडियो और सांकेतिक भाषा प्रारूप में प्रदान की जानी चाहिए।
  • मई 2020 में, सरकार ने देश में डिजिटल शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए 'पीएम ई-विद्या' पहल शुरू की थी।

विषय: रक्षा

5. भारतीय नौसेना और रॉयल थाई नौसेना के बीच इंडो-थाई कॉर्पेट का 31वां संस्करण आयोजित किया जा रहा है।

  • भारत-थाईलैंड समन्वित गश्ती (इंडो-थाई कॉर्पेट) का 31 वां संस्करण भारतीय नौसेना और रॉयल थाई नौसेना के बीच 09 से 11 जून 2021 तक आयोजित किया जा रहा है।
  • भारतीय नौसेना का स्वदेशी निर्मित नौसैनिक अपतटीय गश्ती पोत जहाज (आईएनएस) सरयू एवं थाईलैंड का अपतटीय गश्ती पोत हिज मजेस्टीस थाइलैंड शिप (एचटीएमएस) क्राबी कॉर्पेट में भाग ले रहे हैं।
  • कॉर्पेट में दोनों नौसेनाओं के डोर्नियर मैरीटाइम पेट्रोल विमान भी भाग ले रहे हैं। कॉर्पेट का संचालन भारतीय नौसेना और रॉयल थाई नौसेना द्वारा 2005 से द्वि-वार्षिक रूप से किया जाता है।
  • भारत सरकार के सागर (सिक्योरिटी एंड ग्रोथ फ़ॉर ऑल इन द रीजन) विज़न के तहत, भारतीय नौसेना क्षेत्रीय समुद्री सुरक्षा को बढ़ाने के लिए हिंद महासागर क्षेत्र के देशों के साथ सक्रिय रूप से जुड़ रही है।

31st edition of Indo-Thai CORPAT

(Source: PIB)

विषय: रिपोर्ट और सूचकांक

6. तीन भारतीय विश्वविद्यालयों ने क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग्स 2022 में शीर्ष -200 में स्थान प्राप्त किया।

  • तीन भारतीय विश्वविद्यालयों ने क्यूएस (क्वाक्वेरेली साइमंड्स) वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग्स 2022 में शीर्ष -200 में स्थान हासिल किया है।
  • आईआईटी बॉम्बे ने 177वां और आईआईटी दिल्ली ने 185वां रैंक हासिल किया है।
  • आईआईएससी बेंगलुरु ने विश्वविद्यालयों की रैंकिंग्स में 186वां स्थान हासिल किया है। यह अनुसंधान के लिए विश्व में प्रथम स्थान पर है।
  • क्यूएस (क्वाक्वेरेली साइमंड्स) ने 9 जून को वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग्स का 18वां संस्करण जारी किया है।
  • मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (एमआईटी) ने क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग्स में लगातार 10वें साल पहली रैंक हासिल की है। ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय ने दूसरा स्थान हासिल किया।
  • स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी और यूनिवर्सिटी ऑफ कैम्ब्रिज दोनों ने तीसरा स्थान हासिल किया।
  • क्यूएस (क्वाक्वेरेली साइमंड्स) वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग्स क्वाक्वेरेली साइमंड्स द्वारा प्रतिवर्ष जारी की जाती है। इसे पहले टाइम्स हायर एजुकेशन-क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग्स के नाम से जाना जाता था।
  • क्वाक्वेरेली साइमंड्स एक ऐसी कंपनी है जो पूरी दुनिया में उच्च शिक्षा संस्थानों के विश्लेषण में माहिर है।

क्यूएस (क्वाक्वेरेली साइमंड्स) वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग्स 2022

मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (एमआईटी)

प्रथम रैंक

ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय

द्वितीय रैंक

स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय और कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय

तीसरी रैंक

आईआईटी बॉम्बे

177वीं रैंक

आईआईटी दिल्ली

185वीं रैंक

आईआईएससी बेंगलुरु

186वीं रैंक

विषय: पर्यावरण और पारिस्थितिकी

7. अरुणाचल प्रदेश में मोनाल की दो प्रजातियाँ पाई गईं।

  • अरुणाचल प्रदेश के सियांग जिले में हिमालयी मोनाल और स्क्लेटर मोनाल देखे गए हैं। दोनों मोनाल की दुर्लभ प्रजाति हैं।
  • हिमालयी मोनाल आमतौर पर अफगानिस्तान से लेकर पूर्वोत्तर भारत के क्षेत्र में पाया जाता है।
  • स्क्लेटर मोनाल मुख्य रूप से दक्षिणी चीन और उत्तरी म्यांमार में पाया जाता है। यह समुद्र तल से 1500 मीटर से अधिक ऊंचाई पर रहता है।
  • स्लेटर मोनाल आईयूसीएन लाल सूची में असुरक्षित के रूप में सूचीबद्ध है और वन्यजीव संरक्षण अधिनियम 1972 की अनुसूचित I प्रजाति के तहत संरक्षित है।
  • हिमालयन मोनाल को आईयूसीएन लाल सूची में संकटमुक्त (Least Concern) प्रजाति के रूप में सूचीबद्ध किया गया है।
  • अरुणाचल प्रदेश में पौधों की लगभग 5000 प्रजातियां, पक्षियों की 500 प्रजातियां और स्थलीय स्तनधारियों की 85 प्रजातियां पाई जाती हैं। अरुणाचल प्रदेश जैव विविधता में समृद्ध है।

विषय: रिपोर्ट और सूचकांक

8. इकोनॉमिस्ट इंटेलिजेंस यूनिट ने ग्लोबल लिवेबिलिटी रैंकिंग 2021 जारी किया।

  • ग्लोबल लिवेबिलिटी रैंकिंग इकोनॉमिस्ट इंटेलिजेंस यूनिट (ईआईयू) द्वारा सालाना जारी किया जाता है। यह 140 वैश्विक शहरों को उनकी स्वास्थ्य सेवा, संस्कृति, जीवन की गुणवत्ता और पर्यावरण के आधार पर रैंकिंग प्रदान करता है।
  • ऑकलैंड ने ग्लोबल लिवेबिलिटी रैंकिंग 2021 में शीर्ष स्थान हासिल किया है। यह दुनिया का सबसे अधिक रहने योग्य शहर बन गया है।
  • ओसाका और टोक्यो क्रमशः दूसरे और चौथे स्थान पर रहे। शीर्ष 10 की सूची में एडिलेड, पर्थ, मेलबर्न और ब्रिस्बेन ने अपनी जगह बनाई है।
  • होनोलूलू को ग्लोबल लिवेबिलिटी रैंकिंग 2021 में 14वां स्थान मिला है। यह अपने अंतिम रैंक से 46 स्थान ऊपर आ गया है।
  • ग्लोबल लिवेबिलिटी इंडेक्स 2021 के अनुसार, शीर्ष 10 शहरों में से छह न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया के हैं।
  • दमिश्क दुनिया का सबसे कम रहने योग्य शहर है। ढाका और कराची 10 सबसे कम रहने योग्य शहरों की सूची में बने हुए हैं।
  • लिवेबिलिटी सर्वे के लिए डेटा 22 फरवरी, 2020 से 21 मार्च, 2021 तक एकत्र किया गया था।
  • ग्लोबल लिवेबिलिटी रैंकिंग 2021:

शहर

देश

स्थान

ऑकलैंड

न्यूज़ीलैंड

1

ओसाका

जापान

2

एडिलेड

ऑस्ट्रेलिया

3

वेलिंगटन

न्यूज़ीलैंड

4

टोकियो

जापान

4

विषय: विविध

9. किरेन रिजिजू ने कोविड-19 देखभाल के लिए 20 औषधीय पौधों पर ई-बुक जारी की।

  • आयुष राज्य मंत्री, किरेन रिजिजू ने कोविड -19 देखभाल के लिए 20 औषधीय पौधों पर ई-बुक जारी की है।
  • नेशनल मेडिसिनल प्लांट्स बोर्ड (एनएमपीबी) द्वारा "20 मेडिसिनल प्लांट्स फॉर 2021 फॉर कोविड-19 केयर "ई-बुक तैयार की गई है।
  • यह औषधीय पौधों और उनके चिकित्सीय गुणों के बारे में जानकारी प्रदान करता है। इस ई-बुक में औषधीय पौधों के वानस्पतिक नाम, देशज नाम, रासायनिक संगठन, उपचारात्मक विशेषताएं और महत्वपूर्ण सूत्रों (फॉर्मुलेशंस) को दर्ज किया गया है।
  • यह लोगों को कोविड-19 की रोकथाम और प्रबंधन में औषधीय पौधों के महत्व और विविधता के बारे में भी जागरूक करता है।
  • नेशनल मेडिसिनल प्लांट्स बोर्ड भारत में औषधीय पौधों की खेती और संरक्षण को बढ़ावा देगा।

विषय: राज्य समाचार / गुजरात

10. गुजरात सरकार ने असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए एक मोबाइल ऐप और पोर्टल लॉन्च किया।

  • मुख्यमंत्री विजय रूपानी ने ''ई-निर्माण'' पोर्टल और उसका मोबाइल ऐप लॉन्च किया।
  • यह असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के पंजीकरण के लिए ऑनलाइन सेवा प्रदान करेगा।
  • लगभग 9.20 लाख असंगठित क्षेत्र के श्रमिक पहले से पंजीकृत हैं। सरकार ने उन्हें यू-विन कार्ड दिए हैं।
  • यू-विन कार्ड असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को विभिन्न सरकारी योजनाओं जैसे "माँ अमृतम" योजना, श्रमिक अन्नपूर्णा योजना, आदि का लाभ प्राप्त करने में मदद करेंगे।
  • अब, सरकार राज्य में असंगठित श्रमिकों के रियल टाइम आंकड़ों की निगरानी आसानी से कर सकती है।
  • गुजरात:
    • यह क्षेत्रफल के हिसाब से पांचवां सबसे बड़ा भारतीय राज्य है और जनसंख्या के हिसाब से नौवां सबसे बड़ा राज्य है।
    • यह राजस्थान, दादरा और नगर हवेली और दमन और दीव, महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश के साथ अपनी सीमा साझा करता है।
    • आचार्य देवव्रत वर्तमान राज्यपाल हैं और विजय रूपाणी गुजरात के मुख्यमंत्री हैं।

विषय: कॉर्पोरेट/ कंपनियां

11. भारत में घरेलू पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए सीएचएटीटी एसोसिएशन का गठन किया गया।

  • यात्रा और पर्यटन प्रौद्योगिकी कंपनियों ने घरेलू पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ़ हॉस्पिटैलिटी टेक्नोलॉजी एंड टूरिज्म इंडस्ट्री (CHATT) संघ का गठन किया है।
  • केंद्रीय पर्यटन मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल ने सीएचएटीटी एसोसिएशन का उद्घाटन किया।
  • सीएचएटीटी पर्यटन क्षेत्र की सूक्ष्म और लघु कंपनियों का प्रतिनिधित्व करेगा। देश में पर्यटन के विकास के लिए सरकार इससे परामर्श करेगी।
  • यह भारत के घरेलू पर्यटन बाजार को बढ़ावा देने के लिए एक सहयोगी, सलाहकार और भागीदारी मंच होगा। यह पर्यटन क्षेत्र के डिजिटलीकरण को भी बढ़ावा देगा।
  • एयरनब, इजी माय ट्रिप, ओयो,और यात्रा कॉन्फेडरेशन ऑफ हॉस्पिटैलिटी, टेक्नोलॉजी एंड टूरिज्म इंडस्ट्री (सीएचएटीटी) के संस्थापक सदस्य हैं।
 

 

 

Share Blog