डेली करेंट अफेयर्स और GK | 9 दिसंबर 2020

Main Headlines:

विषय: महत्वपूर्ण दिन

1. सेना सेवा कोर ने 8 दिसंबर को अपना स्थापना दिवस मनाया।

  • सेना सेवा कोर ने 8 दिसंबर को अपना स्थापना दिवस मनाया।
  • इसकी उत्पत्ति का पता 1760 के वर्षों से लगाया जा सकता है जब बंगाल, मद्रास और बॉम्बे प्रेसीडेंसी की सेनाओं के लिए कमिसारीट था।
  • आजादी के बाद 8 दिसंबर 1950 को इसका नाम बदलकर भारतीय सेना सेवा कोर कर दिया गया था। इस दिन इसने 'रॉयल' नाम के प्रत्यय का इस्तेमाल छोड़ दिया था। यह इस दिन को अपने स्थापना दिवस के रूप में मनाता है।
  • सेना सेवा कोर:
    • यह भारतीय सेना का हिस्सा है जो रक्षा बलों को रसद सहायता प्रदान करता है।
    • यह सेना, वायु सेना, नौसेना और अन्य अर्धसैनिक बलों को आपूर्ति और पेट्रोलियम उत्पादों के प्रावधान, खरीद और वितरण के लिए जिम्मेदार है।
    • यह गोला-बारूद, जानवरों, लड़ाकू वाहनों आदि के ढुलाई के लिए भी जिम्मेदार है।
    • सेना सेवा कोर का आदर्श वाक्य "सेवा अस्माकं धर्माः" है।
    • यह सेना की सबसे पुरानी और सबसे बड़ी प्रशासनिक सेवा है।

Foundation day of Army Service Corps

(Source: News on AIR)

 

विषय: नियुक्ति

2. भारतीय मूल के अनिल सोनी को डब्ल्यूएचओ फाउंडेशन के पहले सीईओ के रूप में नियुक्त किया गया।

  • भारतीय मूल के अनिल सोनी को डब्ल्यूएचओ फाउंडेशन के पहले मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) के रूप में नियुक्त किया गया है।
  • वह 1 जनवरी 2021 से अपना पद ग्रहण करेंगे। वह वियाट्रिस में वैश्विक संक्रामक रोगों के प्रमुख थे। वियाट्रिस एक वैश्विक स्वास्थ्य सेवा कंपनी है।
  • उन्होंने बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन में सीनियर एडवाइज़र, एचआईवी और क्लिंटन हेल्थ एक्सेस इनिशिएटिव में सीईओ के रूप में काम किया है।
  • उन्होंने एड्स, मलेरिया और तपेदिक से लड़ने के लिए ग्लोबल फंड के लिए और फ्रेंड्स ऑफ़ द ग्लोबल फाइट अगेंस्ट एड्स, ट्यूबरक्लोसिस एंड  मलेरिया के लिए विभिन्न भूमिकाओं में भी काम किया है।
  • डब्ल्यूएचओ फाउंडेशन:
    • यह एक स्वतंत्र अनुदान बनाने वाला संगठन है जिसका मुख्यालय जिनेवा में है।
    • यह मई 2020 में शुरू किया गया था। प्रोफेसर थॉमस ज़ेल्टनर इसके संस्थापक हैं। वह इसके बोर्ड के अध्यक्ष भी हैं।
    • यह डब्लूएचओ और पूरी दुनिया के स्वास्थ्य समुदाय के साथ काम करता है। यह डब्लूएचओ से कानूनी रूप से अलग है।

CEO of WHO Anil Soni

(Source: News on AIR)

विषय: जैव प्रौद्योगिकी और रोग     

3. यूनाइटेड किंगडम बड़े पैमाने पर COVID-19 वैक्सीन लॉन्च करने वाला पहला देश बन गया है।

  • यूनाइटेड किंगडम ने फाइजर और बायोएनटेक (BioNTech) द्वारा विकसित COVID-19 वैक्सीन का वितरण शुरू किया है। COVID-19 वैक्सीन को बड़े पैमाने पर वितरित करने वाला यह पहला देश बन गया है।
  • भारतीय मूल के डॉ हरि शुक्ला कोरोनोवायरस वैक्सीन प्राप्त करने वाले पहले व्यक्ति बन गए हैं।
  • वैक्सीन 21 दिनों के अंतराल में एक व्यक्ति को दो खुराक में दी जाएगी। इस वैक्सीन की पूर्ण प्रतिरक्षा दूसरी खुराक के सात दिनों के बाद विकसित होती है।
  • इस वैक्सीन के लिए प्राथमिकता वृद्ध व्यक्तियों, नर्सिंग-होम श्रमिकों और अन्य उच्च जोखिम वाले स्वास्थ्य देखभाल कर्मचारियों को दी जाएगी।
  • ब्रिटेन COVID-19 से सबसे ज्यादा प्रभावित यूरोपीय देश है, जिसमें 61,000 से अधिक मौतें हुई हैं।
  • फाइजर और बायोएनटेक ने दावा किया है कि उनका टीका उम्मीदवार कोरोनावायरस से बचाव में 95% प्रभावी है।
  • भारत के प्रधान मंत्री ने घोषणा की है कि भारत मोबाइल प्रौद्योगिकी की मदद से अपने COVID-19 टीकाकरण अभियान को लागू करेगा।
  • भारत बायोटेक और सीरम इंस्टीट्यूट ने भारत में अपने COVID-19 वैक्सीन उम्मीदवारों के लिए आपातकालीन उपयोग प्राधिकरण के लिए आवेदन किया है।

विषय: कला और संस्कृति

4. यूनेस्को ने वर्ल्ड हेरिटेज सिटी की सूची में ग्वालियर और ओरछा का नाम दिया।

  • यूनेस्को ने वर्ल्ड हेरिटेज सिटी की सूची में ग्वालियर और ओरछा का नाम दिया है।
  • ग्वालियर और ओरछा दोनों ही मध्य प्रदेश में स्थित हैं। ओरछा का अर्थ है छिपा हुआ महल। यह 16 वीं शताब्दी में बुंदेला साम्राज्य की राजधानी थी।
  • राज महल, जहांगीर महल, रामराजा मंदिर, राय प्रवीण महल और लक्ष्मीनारायण मंदिर ओरछा के कुछ प्रसिद्ध स्थान हैं।
  • ग्वालियर 9 वीं शताब्दी में स्थापित एक शहर है। गुर्जर प्रतिहार राजवंश, तोमर, बघेल कछवाहो और सिंधिया इस पर शासन किये थे।
  • यह महलों और मंदिरों विशेष रूप से, सास बहू का मंदिर के लिए जाना जाता है।
  • इसके अतिरिक्त, यह ग्वालियर किले के लिए प्रसिद्ध है, जिसमें एक बलुआ पत्थर का पठार है। 15 वीं शताब्दी का गुजरी महल ग्वालियर किले के भीतर स्थित है।
  • अहमदाबाद और जयपुर दो अन्य भारतीय शहर हैं जो पहले से ही विश्व विरासत स्थल की सूची में शामिल हैं।
  • संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, वैज्ञानिक और सांस्कृतिक संगठन (यूनेस्को):
    • यूनेस्को पेरिस, फ्रांस में स्थित संयुक्त राष्ट्र की एक विशेष एजेंसी है।
    • यूनेस्को की स्थापना 16 नवंबर 1945 को हुई थी।
    • यह शिक्षा, विज्ञान और संस्कृति के क्षेत्रों में अंतर्राष्ट्रीय सहयोग के माध्यम से विश्व शांति और सुरक्षा को बढ़ावा देने के लिए काम करता है।

Orcha UNESCO  World Heritage Site

(Source: News on AIR)

विषय: अवसंरचना और ऊर्जा

5. भारत का पहला जल मेट्रो फेरी जनवरी 2021 में शुरू किया जाएगा।

  • भारत की पहली जल मेट्रो नौका परियोजना कोचीन शिपयार्ड से जनवरी 2021 में शुरू की जाएगी। इसे सबसे पहले वादुतला- कक्कानड मार्ग पर लॉन्च किया जाएगा।
  • यह परियोजना कोच्चि मेट्रो रेल लिमिटेड (KMRL) द्वारा कार्यान्वित की गई है। यह 38 टर्मिनलों के साथ 78.2 किमी में फैले 10 द्वीपों को जोड़ेगी।
  • कोच्चि मेट्रो नेटवर्क के लिए एक फीडर सेवा के रूप में जल परिवहन को एकीकृत करने वाला पहला शहर है।
  • इस परियोजना के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले फेरी में 100 यात्रियों की बैठने की क्षमता होगी और ये फेरी इलेक्ट्रिक-सौर ऊर्जा से संचालित होंगे।
  • कोच्चि मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (KMRL) ने इस परियोजना के वित्त के लिए जर्मन विकास बैंक के साथ एक ऋण समझौते पर हस्ताक्षर किया था।
  • यह कोच्चि के आसपास के द्वीपों में रहने वाले लोगों को संपर्क प्रदान करने में मदद करेगा।
  • कोच्चि:
    • यह भारत का एक प्रमुख बंदरगाह शहर है और यह केरल के एर्नाकुलम जिले का हिस्सा है।
    • यह भारत का एक महत्वपूर्ण मसाला व्यापार केंद्र है।
    • कोच्चि मेट्रो 18.4 किमी में 16 परिचालन मेट्रो स्टेशनों के साथ फैला हुआ है।

first water metro ferry project

(Source: Timesnow News)

विषय: अंतरिक्ष और आईटी

6. नोकिया यूरोपीय संघ के 6 जी प्रोजेक्ट ‘हेक्सा-एक्स’ का प्रमुख होगा।

  • यूरोपीय संघ की वित्त पोषित 6 जी परियोजना 'हेक्सा-एक्स' नोकिया की अध्यक्षता में होगी। यह परियोजना अगली पीढ़ी के एक वायरलेस नेटवर्क प्रदान करने पर ध्यान केंद्रित करेगी।
  • यह 2.5 साल की योजनाबद्ध अवधि के साथ 1 जनवरी 2021 से शुरू होगा।
  • हेक्सा-एक्स परियोजना का मुख्य उद्देश्य भौतिक, डिजिटल और मानव दुनिया को 6 वीं पीढ़ी की वायरलेस तकनीक से जोड़ना है।
  • 6 जी तकनीक मानव को मशीनों से जोड़ेगी और यह मानव को डिजिटल दुनिया से भी जोड़ेगी।
  • यह एक ऐसी तकनीक का निर्माण कर सकता है जो मानवीय इरादों, अनुमानित जरूरतों को समझेगी, और भौतिक दुनिया के साथ बातचीत को अधिक प्रभावी बनाएगी।
  • दुनिया में हर पीढ़ी को वायरलेस तकनीक प्रदान करने में नोकिया अग्रणी रहा है। 6 जी तकनीक के 2030 से व्यावसायिक रूप से उपलब्ध होने की संभावना है।
  • 6 जी तकनीक:
    • यह छठी पीढ़ी की वायरलेस नेटवर्क तकनीक होगी।
    • यह 5 जी नेटवर्क प्रौद्योगिकी का उत्तराधिकारी होगा।
    • यह 5 जी तकनीक से लगभग 100 गुना तेज होगा।
    • चीन ने 6 नवंबर 2020 को एक प्रयोगात्मक 6 जी परीक्षण उपग्रह लॉन्च किया है।

 

विषय: रक्षा

7. सेना प्रमुख ने रक्षा संबंधों को मजबूत करने के लिए यूएई और सऊदी अरब की अपनी यात्रा शुरू की।

  • सेना प्रमुख जनरल एम एम नरवाने ने संयुक्त अरब अमीरात और सऊदी अरब की अपनी सप्ताह भर की यात्रा शुरू की है।
  • इस यात्रा का मुख्य उद्देश्य भारत और इन दो महत्वपूर्ण खाड़ी देशों के बीच रक्षा संबंधों को मजबूत करना है।
  • यह यूएई और सऊदी अरब के लिए किसी भारतीय सेना प्रमुख की पहली यात्रा होगी।
  • इस यात्रा में, सेना प्रमुख असैन्य और सैन्य नेताओं के साथ बैठक करेंगे और इन देशों के रक्षा प्रतिष्ठानों का भी दौरा करेंगे।
  • सेना प्रमुख 9-10 दिसंबर को यूएई का दौरा करने वाले हैं और वह 13 दिसंबर को सऊदी अरब की यात्रा करेंगे।

देश

सउदी अरब

संयुक्त अरब अमीरात (UAE)

स्थान

पश्चिमी एशिया

पश्चिमी एशिया (अरब प्रायद्वीप के पूर्वोत्तर छोर पर)

राजधानी

रियाद

अबू धाबी

मुद्रा

रियाल

संयुक्त अरब अमीरात दिरहम

प्रधान मंत्री

सलमान बिन अब्दुल अजीज अल सउद

मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम

राष्ट्रपति

-

खलीफा बिन जायद अल नाहयान

uae and saudi arabia

विषय: अंतरिक्ष और आईटी

8. स्पेसएक्स की फ्यूचरिस्टिक स्टारशिप की पहली हाई एल्टीट्यूड सबऑर्बिटल परीक्षण उड़ान पूरी होने से पहले समाप्त हो गई।

  • स्पेस एक्स की फ्यूचरिस्टिक स्टारशिप की पहली उच्च हाई एल्टीट्यूड सबऑर्बिटल परीक्षण उड़ान 8 नवंबर 2020 को पूरी होने से पहले समाप्त हो गई।
  • स्पेस एक्स का लक्ष्य स्टारशिप प्रोटोटाइप को 12.5 किमी की ऊँचाई पर भेजना और इसे एक ऊर्ध्वाधर लैंडिंग पर वापस करना था।
  • कंपनी ने पहले ही पांच स्टारशिप परीक्षण उड़ानों को 490 फीट (0.15 किमी) की अधिकतम ऊंचाई तक किया है। मंगलवार की परीक्षण उड़ान का उद्देश्य स्टारशिप प्रोटोटाइप को अब तक की उच्चतम ऊंचाई तक ले जाना था।
  • स्पेसशिप प्रोटोटाइप स्टेनलेस स्टील संस्करण था और नाक शंकु, शरीर फ्लैप और तीन रैप्टर इंजन के साथ पहला था।
  • स्पेसएक्स का टेक्सास में एक रॉकेट उत्पादन, परीक्षण और प्रक्षेपण स्थल है। इसे बोका चीका लॉन्च साइट कहा जाता है।
  • स्पेसएक्स का लक्ष्य बहुत बड़े उपग्रहों को पृथ्वी की कक्षा में भेजने और लोगों और कार्गो को चंद्रमा और मंगल पर भेजने के लिए स्टारशिप का उपयोग करना है।
  • कंपनी ने पहले घोषणा की है कि युसाकु मेज़वा (मइज़वावा) इसका पहला निजी यात्री होगा। वह 2023 में चंद्रमा के चारों ओर उड़ान भरेगा।
  • स्पेस एक्स:
    • इसकी स्थापना 2002 में एलोन मस्क ने की थी।
    • यह एक अमेरिकी एयरोस्पेस निर्माता और अंतरिक्ष परिवहन सेवा कंपनी है।
    • यह अपने पुन: प्रयोज्य रॉकेट और अंतरिक्ष यात्री कैप्सूल के लिए जाना जाता है।
    • इसका मुख्यालय कैलिफोर्निया में स्थित है।
    • स्पेसएक्स के सीईओ एलोन मस्क हैं।

spacex futuristic

(Source: The Hindu)

विषय: राज्य समाचार/ उत्तर प्रदेश

9. यूपी सरकार थारू गांवों को यूपी वन निगम की होम स्टे योजना में शामिल करने के लिए काम कर रही है।

  • यूपी सरकार थारू गांवों को यूपी वन निगम की होम स्टे योजना में शामिल करने के लिए काम कर रही है।
  • थारू गाँव यूपी के बलरामपुर, बहराइच, लखीमपुर और पीलीभीत जिलों में स्थित हैं।
  • थारू गांवों के पर्यटक थारू जनजाति की झोपड़ियों में रहेंगे। नतीजतन, थारू लोग सीधे पर्यटकों को घर के बने खाद्य पदार्थ और झोपड़ियां प्रदान करके पैसा कमाएंगे।
  • यूपी वन निगम पर्यटकों के साथ संचार में थारू लोगों को प्रशिक्षित करेगा।
  • 2011 की जनगणना के अनुसार, यूपी में अनुसूचित जनजातियों की जनसंख्या 11 लाख से अधिक थी। थारू जनजाति की आबादी उनमें से सबसे बड़ी है।
  • थारू जनजाति तराई क्षेत्र से संबंधित है। तराई शिवालिक पहाड़ियों या निचले हिमालय और भारत-गंगा के मैदान के बीच का एक निचला क्षेत्र है।
  • ऐसा माना जाता है कि थारू शब्द स्थविर शब्द से आया है। इसका मतलब थेरवाद बौद्ध धर्म के अनुयायी हैं।
  • यूपी के साथ-साथ थारू लोग उत्तराखंड और बिहार में रहते हैं। वे नेपाल में भी रहते हैं। थारू जनजाति के बारे में अन्य महत्वपूर्ण बिंदु नीचे दिए गए हैं।
    • व्यवसाय और भोजन की आदतें: वे ज्यादातर वनवासी हैं जो मादक पेय का सेवन करते हैं। कुछ कृषि करते हैं और गोमांस खाते हैं।
    • भाषाएँ: वे हिंदी, उर्दू और अवधी के विभिन्न रूपों और थारू (एक इंडो-आर्य भाषा) की बोलियों को बोलते हैं।
    • पूजा: वे भगवान शिव की पूजा करते हैं और नारायण को एक धूप, बारिश और फसल प्रदान करने वाले सर्वोच्च के रूप में मानते हैं।
    • व्यंजन: बगिया या ढिकरी (चावल के आटे की उबली हुई डिश) और घोंघी (पका हुआ खाने योग्य घोंघा) उनके व्यंजन हैं।

 tharu tribals UP tourism

(Source: The Indian Express)

विषय: राष्ट्रीय समाचार

10. चल्लकेरे में एच्एएल -आईआईएससी कौशल विकास केंद्र ने अपना पहला प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू किया।

  • हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एच्एएल) - इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस (आईआईएससी) स्किल डेवलपमेंट सेंटर ने चल्लकेरे में अपना पहला प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू किया।
  • अगस्त 2020 में एचएएल-आईआईएससी कौशल विकास केंद्र का उद्घाटन रक्षा मंत्री द्वारा किया गया था। यह आईआईएससी के नए परिसर चल्लकेरे, चित्रदुर्ग जिले (कर्नाटक) में स्थित है।
  • चल्लकेरे को साइंस सिटी कहा जाता है। भारत के प्रीमियर वैज्ञानिक संस्थानों जैसे आईआईएससी, डीआरडीओ, और इसरो ने चल्लकेरे में अपने परिसर स्थापित किये हैं।
  • इसरो अपने मानव अंतरिक्ष उड़ान केंद्र को चल्लकेरे में स्थापित करेगा। चल्लकेरे को ऑइल् सिटी भी कहा जाता है।
 

Share Blog