डेली करेंट अफेयर्स और GK | 09 अप्रैल 2020

By PendulumEdu | Last Modified: 14 Apr 2020 19:07 PM IST

Celebrate India's Epic T20 Win get 35% Off
Use Coupon code INDIAT20

half yearly financial awareness jan july 2024 Rs.199/- Read More
six months current affairs 2023 july december Rs.199/- Read More
half yearly financial awareness july december 2023 Rs.199/- Read More
half yearly current affairs jan july 2023 in detail Rs.219/- Read More


Half Yearly (Jul- Dec 2023 , Detailed)
2023 e Book

Current Affairs

Available in English & Hindi(eBook)

Buy Now ( Hindi ) Preview Buy Now (English)

1. भारतीय रेलवे ने 58 मार्गों पर 109 पार्सल ट्रेनें शुरू की।

  • हाल ही में भारतीय रेलवे ने ज़रूरी सामानों की आवाजाही निर्बाध रूप से बनाए रखने के लिए नियत समय वाली 109 पार्सल ट्रेनें शुरू की हैं।
  • इनके द्वारा आम लोगों, उद्योगों और कृषि के लिए आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता आसानी से हो सकेगी।
  • साथ ही इससे देश के लगभग सभी महत्वपूर्ण शहरों तक ज़रूरी वस्तुएँ तेजी से पहुँचाना संभव होगा।
  • ये पार्सल रेलगाड़ियाँ ग्राहकों की मांग के अनुसार व्यवस्थित की गई हैं।
  • इनके द्वारा दिल्ली, मुम्बई, कोलकाता, चेन्नई, हैदराबाद और बेंगलुरू के अलावा गुवाहाटी तक आवश्यक वस्तुएँ उपलब्ध करायी जाएँगी।
  • भारतीय रेल:
    • भारत की राष्ट्रीय रेलवे प्रणाली है जो रेल मंत्रालय द्वारा संचालित है। यह सरकार द्वारा दी गई सार्वजनिक सुविधाओं में से एक है।
    • मार्च 2017 तक 67,368 किलोमीटर लंबाई के साथ आकार में दुनिया का चौथा सबसे बड़ा रेलवे नेटवर्क है।
    • इसकी स्थापना 16 अप्रैल 1853 में की गई थी।
    • इसका मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है।

2. केन्द्र सरकार द्वारा लर्निंग प्लेटफार्म शुरू किया जाएगा।

  • हाल ही में केन्द्र सरकार द्वारा कोविड-19 महामारी से निपटने के लिये स्वास्थ्य कर्मियों और कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण देने और अपडेट रखने के लिए लर्निंग प्लेटफार्म शुरू करने की घोषणा की गई है।
  • इस लर्निंग प्लेटफार्म का नाम आई गॉट डॉट गोव डॉट इन (igot.gov.in) है।
  • इस प्लेटफार्म पर डॉक्टर, नर्स, पैरामेडिक्स, स्वास्थ्य कार्यकर्ता, तकनीशियन, ऑक्जीलरी नर्सिंग मिडवाइव्स, एएनएम, केन्द्र और राज्य सरकार के अधिकारी, नेशनल केडिट कोर के जवान, एनएसएस नेहरू युवा केन्द्र संगठन, भारतीय स्काउट और गाइड तथा भारतीय रेड क्रोस सोसाइटी के कार्यकर्ता प्रशिक्षण और जानकारी प्राप्त कर सकेंगे।

3. भारत सरकार ने 5 लाख रुपये तक के लम्बित आयकर रिफंड तत्काल जारी करने का निर्णय लिया।

  • हाल ही में भारत सरकार ने 5 लाख रुपये तक की राशि के लम्बित आयकर रिफंड तत्काल जारी करने का निर्णय लिया है।
  • कोविड-19 महामारी की स्थिति को देखते हुए सरकार ने करदाताओं और व्यापारियों को तत्काल राहत पहुंचाने के उद्देश्य से यह निर्णय किया है।
  • सरकार के इस निर्णय से लगभग 14 लाख करदाताओं को लाभ होगा।
  • इससे सूक्ष्म, मध्यम और लघु उद्यम सहित लगभग एक लाख छोटे व्यवसायों को लाभ होगा।
  • इस प्रकार रिफंड की जाने वाली कुल राशि लगभग 18,000 करोड़ रूपये होगी।
  • सरकार ने सभी लम्बित जीएसटी और सीमा शुल्क रिफंड की राशि भी तत्काल जारी करने का निर्णय किया है।
  • आयकर एक प्रकार का प्रत्यक्ष कर है। जिसे आयकर विभाग द्वारा वसूल किया जाता है।
  • आयकर विभाग एक सरकारी एजेंसी है जो भारत सरकार के प्रत्यक्ष कर संग्रह का कार्य करती है।

4. प्रधानमंत्री जनऔषधि केंद्र के माध्यम से कोविड-19 से लड़ने के लिए मरीजों और बुजुर्गों के दरवाजे पर आवश्यक दवाइयाँ पहुँचायी जा रही हैं।

  • प्रधानमंत्री जनऔषधि केंद्र के माध्यम से फार्मासिस्ट द्वारा कोविड-19 महामारी से लड़ने के लिए प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधी परियोजना के तहत मरीजों और बुजुर्गों के दरवाजे पर आवश्यक सेवाएं और दवाइयाँ पहुँचायी जा रही हैं।
  • इन केंद्रों के फार्मासिस्ट देश के आम लोगों को सस्ती कीमत पर गुणवत्तापूर्ण जेनेरिक दवाएं उपलब्ध कराकर आवश्यक सेवाओं का विस्तार कर रहे हैं।
  • वर्तमान में देश के 726 जिलों में  6,300 से अधिक प्रधानमंत्री जनऔषधि केंद्र कार्यरत हैं।
  • नागरिक अपने नजदीकी केंद्रों और दवाओं की उपलब्धता का पता लगाने के लिए जन औषधी सुगम ऐप का उपयोग कर सकते हैं।
  • प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि परियोजना:
    • प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि परियोजना, फार्मास्युटिकल्स विभाग, सरकार द्वारा शुरू किया गया एक अभियान है।
    • इसके अंतर्गत देश भर में प्रधानमंत्री जनऔषधि केंद्र खोले गये हैं।
    • भारत में, इन विशेष केंद्रों के माध्यम से जनता को सस्ती कीमतों पर गुणवत्ता वाली दवाएं उपलब्ध करायी जाती हैं।

5. सिडबी एमएसएमई (MSME) को आपातकालीन कार्यशील पूंजी प्रदान करेगा।

  • हाल ही में भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक (SIDBI) ने कहा है कि वह छोटे और मध्यम उद्यमों को एक करोड़ रुपये तक की आपातकालीन कार्यशील पूंजी प्रदान करेगा।
  • यह राशि सरकार द्वारा उनके लिए दिये गये श्रृण आदेशों से अलग होगी।
  • कोरोना वायरस के खिलाफ आपातकालीन प्रतिक्रिया की सुविधा के लिए सिडबी सहायता सेफ प्लस को 48 घंटों के भीतर बिना किसी संपार्श्विक के वितरित की जाएगी।
  • इस ऋण राशि पर 5% की ब्याज दर लगायी जाएगी। सिडबी ने कुछ दिनों पहले घोषित सेफ ऋण की सीमा 50 लाख रुपये से बढ़ाकर 2 करोड़ रुपये कर दी है।
  • यह राशि कोविड-19 से निपटने में उपयोग किए जाने वाले हैंड सैनिटाइज़र, मास्क, दस्ताने, हेड गियर, बॉडीसूट, जूता-कवर, वेंटिलेटर और काले चश्मे के निर्माण में लगे एमएसएमई को प्रदान की जाएगी।
  • भारतीय लघु औद्योगिक विकास बैंक (SIDBI):
    • भारत में एक विकास वित्तीय संस्थान है, इसके कार्यालय पूरे देश में स्थित हैं।
    • इसका मुख्यालय लखनऊ, उत्तर प्रदेश में स्थित है।
    • यह 2 अप्रैल 1990 को स्थापित किया गया था।
    • मोहम्मद मुस्तफा सिडबी के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक है।

6. सीएसआईआर, सीसीएमबी और आईजीआईबी ने एक साथ मिलकर कोरोनवायरस के जीनोम अनुक्रमण पर कार्य शुरू किया।

  • हाल ही में सेंटर फॉर साइंटिफिक एंड इंडस्ट्रियल रिसर्च (CSIR), हैदराबाद में सेंटर फॉर सेल्युलर एंड मॉलिक्यूलर बायोलॉजी (CCMB) और इंस्टीट्यूट ऑफ जीनोमिक्स एंड इंटीग्रेटिव बायोलॉजी (IGIB) नई दिल्ली ने नोवेल कोरोनवायरस के पूरे जीनोम अनुक्रमण पर एक साथ काम करना शुरू कर दिया है।
  • जीनोम अनुक्रमण के द्वारा वैज्ञानिकों को वायरस के विकास को समझने में मदद मिलेगी।
  • साथ ही उन्हें यह जानने में भी सहायता होगी कि यह कितनी तेजी से विकसित होता है और इसके भविष्य के पहलू क्या हैं?
  • इसके लिए पुणे में स्थित नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (NIV) से भी वायरस के सैंपल प्रदान करने के लिए कहा गया है।
  • जीनोम अनुक्रमण:
    • जीनोम अनुक्रमण एक समय में किसी जीव के जीनोम के पूर्ण डीएनए अनुक्रम को निर्धारित करने की एक प्रक्रिया है। यह एक जीव के क्रोमोसोमल डीएनए के साथ-साथ माइटोकॉन्ड्रिया में निहित डीएनए का क्रम निर्धारण है। पौधों के मामले में क्लोरोप्लास्ट में अनुक्रमण को बताता है।

7. अफगान सरकार ने 100 तालिबानी कैदियों को रिहा किया।

  • हाल ही में अफगान सरकार ने 100 तालिबानी कैदियों को रिहा कर दिया है।
  • मुक्त किए गए कैदियों को उनके स्वास्थ्य, उम्र और शेष कारावास की अवधि के आधार पर चुना गया है।
  • अफगान सरकार ने यह निर्णय तालिबान-अमेरिका शांति वार्ता के तहत और कोविड-19 के प्रसार को देखते हुए लिया है।
  • अफगान अधिकारियों ने कहा है कि वे जेलों में कोरोनावायरस के प्रसार को कम करने के लिए 10,000 गैर-तालिबान कैदियों को भी रिहा करने पर विचार कर रहे हैं।
  • अफ़गानिस्तान:
    • अफ़गानिस्तान, पश्चिमी, मध्य और दक्षिणी एशिया के संगम पर स्थित एक देश है।
    • इसकी राजधानी काबुल और मुद्रा अफगान अफगानी है।
    • अशरफ गनी अफ़गानिस्तान के राष्ट्रपति है।

8. देश में कोरोना वायरस के संक्रमण के मामलों में वृद्धि।

  • हाल ही में 23 मार्च से 8 अप्रैल के मध्य देश में कोरोना संक्रमण की स्थिति पर समीक्षा की गई है।
  • इस समीक्षा के दौरान पाया गया है कि देश में कोरोना वायरस के संक्रमण के मामलों में वृद्धि हुई है।
  • इस कारण से देश में अधिक संवेदनशील क्षेत्र को हॉटस्पॉट के रूप में चिन्हित किया गया है।
  • समस्त देश के 284 भारतीय जिलों में 8 अप्रैल तक कोविड-19 का कम से कम एक केस पाया गया है। लगभग 15 दिन पहले, 23 मार्च तक देश मे केवल 84 ऐसे जिले थे।
  • दक्षिण दिल्ली में इस अवधि में 316 मामलों की वृद्धि दर्ज की गई, जो सभी जिलों में सबसे अधिक है, इसके बाद मुंबई (278 और मामले) और कासरगोड (121 और मामले) हैं।

(स्रोत: द हिंदू)

 

आज का विषय – “धन विधेयक और साधारण विधेयक”

भारतीय संविधान में चार प्रकार के विधेयकों का वर्णन किया गया है।

  1. साधारण विधेयक (अनुच्छेद 107 108 )
  2. वित्तीय विधेयक (अनुच्छेद-117-1, 117-3)
  3. धन विधेयक (अनुच्छेद-110)
  4. संविधान संशोधन विधेयक (अनुच्छेद -368)

धन विधेयक- भारतीय संविधान के अनुच्छेद 110 में धन विधेयक को परिभाषित किया गया है। धन विधयकों का संबंध वित्तीय मामलों जैसे कराधान, सार्वजनिक व्यय आदि से होता है। लोकसभा स्पीकर यह निश्चित करता है कि कोई विधेयक धन विधेयक है या नहीं।

साधारण विधेयक - धन संबंधी मामलों के अतिरिक्त अन्य सभी मामले साधारण विधेयक के अंर्तगत आते है। भारतीय संविधान में इनका वर्णन अनुच्छेद 107 108 में किया गया है।

साधारण विधेयक धन विधेयक में अंतर-

  • धन विधेयक, यह केवल लोकसभा में पेश किया जा सकता है। जबकि साधारण विधेयक किसी भी सदन में पेश किया जा सकता है।
  • धन विधेयक को राष्ट्रपति की सिफारिश के द्वारा ही पेश किया जाता है। साधारण विधेयक में राष्ट्रपति की सिफारिश की आवश्यकता नहीं है।
  • धन विधेयक को राज्यसभा संशोधित या अस्वीकृत नहीं कर सकती है। जबकि साधारण विधेयक में राज्यसभा को वही शक्तियां प्राप्त हैं जो कि लोकसभा को हैं।
  • राज्य सभा धन विधेयक को मात्र 14 दिनों तक अपने पास रोक सकती है। साधारण विधेयक के मामले में राज्यसभा लगभग 6 माह तक रोक सकती है।
  • धन विधेयक के लिये संयुक्त बैठक का प्रावधान नहीं है। जबकि साधारण विधेयक के मामले में संयुक्त बैठक का प्रावधान हैं।            
  • यदि धन विधेयक लोकसभा में पारित नहीं होता है तो समस्त मंत्री परिषद को त्यागपत्र देना पड़ता है। लेकिन साधारण विधेयक के लिए ऐसा कोई प्रावधान नहीं है।

 

समसामयिक प्रश्नोत्तर

1. भारतीय रेलवे की स्थापना किस वर्ष हुई थी?

  1. 1857
  2. 1853
  3. 1957
  4. 1947

2. केन्द्र सरकार द्वारा कोविड-19 महामारी से निपटने के लिये लर्निंग प्लेटफार्म शुरू किया जाएगा, इस प्लेटफार्म द्वारा निम्नलिखित में से किसे प्रशिक्षित किया जाएगा?

  1. राज्य सरकार के अधिकारी
  2. भारतीय रेड क्रोस सोसाइटी के कार्यकर्ता
  3. नेशनल केडिट कोर के जवान
  4. उपरोक्त सभी

3. आयकर किस प्रकार का कर है?

  1. अप्रत्यक्ष
  2. प्रत्यक्ष
  3. उपरोक्त दोनो
  4. उपरोक्त में कोई नहीं

4. प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि परियोजना किस विभाग द्वारा चलायी जा रही है?

  1. स्वास्थ्य विभाग
  2. फार्मास्युटिकल्स विभाग
  3. जन कल्याण विभाग
  4. राजस्व विभाग

5. लघु औद्योगिक विकास बैंक ऑफ इंडिया (SIDBI) का मुख्यालय कहां स्थित है?

  1. मुम्बई
  2. नई दिल्ली
  3. कोच्ची
  4. लखनऊ

6. नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी कहां स्थित है?

  1. कोलकाता
  2. चेन्नई
  3. हैदराबाद
  4. पूणे

7. अशरफ गनी किस देश के राष्ट्रपति हैं?

  1. कतर
  2. बहरीन
  3. अफ़गानिस्तान
  4. ताजिकिस्तान

       8. 23 मार्च से 8 अप्रैल की अवधि में देश में किस क्षेत्र में कोरोना संक्रमण में सर्वाधिक वृद्धि हुई है?

  1. मुंबई
  2. दक्षिण दिल्ली
  3. कोच्ची
  4. मदुरई

 

उत्तर

1. B

2. D

3. B

4. B

5. D

6. D

7. C

8. B

 

 

0
COMMENTS

Comments


Share Blog


x