11 May 2023 Current Affairs in Hindi

By Priyanka Chaudhary | Last Modified: 27 May 2023 19:58 PM IST

Main Headlines:

BIGGEST SALE EVER get 35% Off
Use Coupon code APRIL24

six months current affairs 2023 july december Rs.199/- Read More
half yearly financial awareness july december 2023 Rs.199/- Read More
half yearly current affairs jan july 2023 in detail Rs.219/- Read More
half yearly current affairs jul dec 2023 in detail Rs.219/- Read More


Half Yearly (Jul- Dec 2023 , Detailed)
2023 e Book

Current Affairs

Available in English & Hindi(eBook)

Buy Now ( Hindi ) Preview Buy Now (English)

विषय: रिपोर्ट और सूचकांक/रैंकिंग

1. संयुक्त राष्ट्र के अध्ययन के अनुसार, भारत उन 10 देशों की सूची में शीर्ष पर है, जो वैश्विक मातृ मृत्यु के 60 प्रतिशत के लिए जिम्मेदार हैं।

  • संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट के अनुसार, भारत उन 10 देशों की सूची में सबसे आगे है, जो वैश्विक मातृ मृत्यु, मृत जन्म (जन्म के समय मृत्यु) और नवजात मृत्यु के 60 प्रतिशत और वैश्विक स्तर पर 51 प्रतिशत जीवित जन्मों के लिए जिम्मेदार हैं।
  • यह रिपोर्ट चल रहे 'अंतर्राष्ट्रीय मातृ नवजात स्वास्थ्य सम्मेलन' (IMNHC 2023) में जारी की गई है।
  • रिपोर्ट के अनुसार, 2020-21 में 4.5 मिलियन मौतें - मातृ मृत्यु (0.29 मिलियन), मृत जन्म (1.9 मिलियन) और नवजात मृत्यु (2.3 मिलियन) हुईं।
  • पहली बार एवर न्यू बोर्न एक्शन प्लान (ईएनएपी) और एंडिंग प्रिवेंटेबल मैटरनल मॉर्टेलिटी (ईपीएमएम) प्रगति ट्रैकिंग रिपोर्ट के अनुसार, पिछले आठ वर्षों में गर्भवती महिलाओं, माताओं और शिशुओं की मृत्यु में वैश्विक प्रगति धीमी हो गई है।
  • मातृ और नवजात स्वास्थ्य में घटते निवेश के कारण वैश्विक प्रगति धीमी हो गई है।
  • उप-सहारा अफ्रीका और मध्य और दक्षिणी एशिया क्षेत्रों में नवजात और मातृ मृत्यु की सबसे बड़ी संख्या देखी गई है।
  • 2020 में, भारत में 7,88,000 मातृ मृत्यु, मृत जन्म और नवजात मृत्यु हुई।
  • भारत के बाद नाइजीरिया, पाकिस्तान, कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य, इथियोपिया, बांग्लादेश और चीन हैं।
  • भारत वैश्विक जीवित जन्मों के 17 प्रतिशत के लिए जिम्मेदार है जो बड़ी संख्या में मातृ मृत्यु, मृत जन्म और नवजात मृत्यु के लिए एक कारक हो सकता है।
  • जीवित रहने की दर को बढ़ाने के लिए महिलाओं और नवजात शिशुओं को प्रसव से पहले, प्रसव के दौरान और बाद में उच्च-गुणवत्ता, उचित मूल्य वाली स्वास्थ्य सेवा तक पहुंच की आवश्यकता है।

विषय: सरकारी योजनाएं और पहल

2. केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने 'पोषण भी, पढाई भी' योजना की शुरुआत की।

  • ‘पोषण भी, पढाई भी' योजना का मुख्य उद्देश्य प्रारंभिक बचपन देखभाल और शिक्षा (ईसीसीई) को मजबूत करना है।
  • ‘पोषण भी, पढाई भी' योजना भारत में दुनिया का सबसे बड़ा, सार्वभौमिक, उच्च गुणवत्ता वाला प्रीस्कूल नेटवर्क बनाने में मदद करेगी।
  • इसका मुख्य लक्ष्य राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा में वर्णित प्रत्येक क्षेत्र में बच्चों का समग्र विकास है।
  • यह बच्चों के शारीरिक और मोटर विकास, संज्ञानात्मक विकास और सामाजिक-भावनात्मक-नैतिक विकास में मदद करेगा।
  • ईईसीई मिशन सक्षम आंगनवाड़ी और पोषण 2.0 (मिशन पोषण 2.0) का मुख्य घटक है।
  • केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि सरकार 117,000 से अधिक मिनी-आंगनवाड़ी केंद्रों को पूर्ण विकसित केंद्रों में अपग्रेड करने की कोशिश कर रही है।
  • योजना के लॉन्च कार्यक्रम में विभिन्न राज्यों के 800 एकीकृत बाल विकास योजना (आईसीडीएस) के पदाधिकारियों ने भाग लिया।
  • पूरे भारत में 1.39 मिलियन चालू आंगनवाड़ी केंद्र लगभग 80 मिलियन बच्चों को पूरक पोषण और प्रारंभिक देखभाल और शिक्षा प्रदान कर रहे हैं।

विषय: पर्यावरण और पारिस्थितिकी

3. शून्य कार्बन उत्सर्जन लक्ष्य प्राप्त करने के लिए हरित पत्तन दिशानिर्देश 2023 "हरित सागर" लॉन्च किया गया।

  • 10 मई को, इसे नई दिल्ली में एक समारोह में बंदरगाह, नौवहन और जलमार्ग मंत्री सर्बानंद सोनोवाल द्वारा लॉन्च किया गया।
  • शून्य कार्बन उत्सर्जन हासिल करने के मंत्रालय के व्यापक विजन को पूरा करने के लिए दिशा-निर्देश जारी किए गए।
  • दिशानिर्देशों में 'प्रकृति के साथ काम करने' की अवधारणा के साथ बंदरगाह विकास, संचालन और रखरखाव में पारिस्थितिकी तंत्र के प्रदर्शन को बढ़ाने और बंदरगाह पारिस्थितिकी तंत्र के जैविक घटकों पर प्रभाव को कम करने की परिकल्पना की गई है।
  • यह पहल पत्तन संचालन में स्वच्छ/हरित ऊर्जा के उपयोग, भंडारण के लिए बंदरगाह क्षमता विकसित करने, हरित ईंधनों जैसे ग्रीन हाइड्रोजन, ग्रीन अमोनिया, ग्रीन मेथनॉल/इथेनॉल इत्यादि के कुशल प्रबंधन और सुरक्षित इस्तेमाल करने पर जोर देता है।
  • ये दिशानिर्देश निर्धारित समय सीमा में कार्बन उत्सर्जन में मात्रात्मक कमी के संदर्भ में लक्षित परिणामों को प्राप्त करने के लिए एक व्यापक कार्य योजना तैयार करने के लिए प्रमुख बंदरगाहों के लिए एक रूपरेखा प्रदान करते हैं।
  • यह हरित पहलों के कार्यान्वयन और करीबी निगरानी और सतत विकास लक्ष्यों (एसडीजी) को प्राप्त करने पर केंद्रित है।
  • इसमें बंदरगाहों से संबंधित राष्ट्रीय हरित हाइड्रोजन मिशन के प्रमुख बिंदु, हरित हाइड्रोजन सुविधा का विकास, एलएनजी का भंडारण, तटीय पवन ऊर्जा का उपयोग आदि शामिल हैं और ग्रीन रिपोर्टिंग इनीशिएटिव (जीआरआई) मानक अपनाने के लिए अवसर प्रदान करता है।
  • कुछ महत्वपूर्ण पुरस्कार:
    • वर्ष 2022-23 के लिए सर्वश्रेष्ठ पूर्ण प्रदर्शन का पुरस्कार 137.56 एमएमटी के उच्चतम कार्गो का प्रबंधन करने के लिए कांडला के दीनदयाल पोर्ट को दिया गया है।
    • पारादीप पोर्ट को शिप बर्थ डे आउटपुट पर बेहतर प्रदर्शन का पुरस्कार प्राप्त हुआ है।
    • कामराजर पोर्ट को प्री-बर्थिंग डिटेंशन टाइम में सफलता मिली है      ।
    • कोचीन पोर्ट को टर्न-अराउंड-टाइम (नॉन-कंटेनर पोर्ट) में बेहतर कार्य निष्पादन की ट्रॉफी दी गई है।
    • पिछले वर्ष 16.56% की उच्चतम कार्गो वृद्धि दर प्राप्त करने के लिए पारादीप पोर्ट द्वारा सर्वश्रेष्ठ वृद्धिशील प्रदर्शन का पुरस्कार प्रदान किया गया।
    • बढ़ोतरी वाली श्रेणी में मोरमुगाओ पोर्ट को सर्वश्रेष्ठ शिप बर्थ डे आउटपुट के लिए एक और पुरस्कार दिया गया है।
    • कामराजार पोर्ट को सर्वश्रेष्ठ प्री-बर्थिंग डिटेंशन टाइम के लिए सम्मानित किया गया है।

Deep Sea

(Source: News on Air)

विषय: शिखर सम्मेलन/सम्मेलन/बैठकें

4. गहरे समुद्र मिशन की संचालन समिति की पहली बैठक नई दिल्ली में आयोजित की गई।

  • 10 मई को, केंद्रीय मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने पृथ्वी भवन, नई दिल्ली में गहरे समुद्र मिशन की पहली उच्च स्तरीय संचालन समिति की बैठक की अध्यक्षता की।
  • बैठक के दौरान, उन्होंने कहा कि आने वाले वर्षों में, "नीली अर्थव्यवस्था" भारत की समग्र अर्थव्यवस्था में एक प्रमुख योगदानकर्ता होगी और प्रधान मंत्री द्वारा घोषित गहरे समुद्र मिशन इसका एक प्रमुख घटक होगा।
  • समिति में नीति आयोग के उपाध्यक्ष के अलावा केंद्रीय पर्यावरण, विदेश, रक्षा और वित्त राज्य मंत्री शामिल थे।
  • गहरे समुद्र अभियान हिंद महासागर के गहरे समुद्र में रहने वाले सजीव और निर्जीव संसाधनों की बेहतर समझ के लिए एक उच्च-स्तरीय बहु-मंत्रालयी, बहु-अनुशासनात्मक कार्यक्रम है।
  • यह नीली अर्थव्यवस्था का दर्जा प्राप्त करने के भारत के प्रयासों में मददगार साबित होगा।
  • गहरे समुद्र अभियान को सितंबर 2021 में मंजूरी दी गई थी।
  • मिशन की अनुमानित लागत 5 वर्षों के लिए 4047 करोड़ रुपये है ।
  • इसे दो चरणों में लागू किया जाएगा जिसमें पहले चरण की लागत 2823.40 करोड़ रुपये - तीन साल, तथा दूसरे चरण में 1223.60 करोड़ रुपये है जिसे पहले चरण की सफल समीक्षा के बाद खर्च किया जाएगा।
  • गहरे समुद्र अभियान में में 6 विषय शामिल हैं:
    • गहरे समुद्र में खनन, मानवयुक्त सबमर्सिबल और पानी के अंदर रोबोटिक्स वाली प्रौद्योगिकी का विकास
    • महासागर और जलवायु परिवर्तन सलाहकार सेवाओं का विकास
    • गहरे समुद्र में जैव विविधता की खोज और इसके संरक्षण के लिए प्रौद्योगिकी नवाचार
    • गहन महासागर सर्वेक्षण तथा अन्वेषण
    • महासागर से ऊर्जा और मीठा पानी
    • महासागर जीव विज्ञान के लिए उन्नत समुद्री स्टेशन

विषय: खेल

5. विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप: भारतीय मुक्केबाजों ने जीते ऐतिहासिक तीन पदक।

  • 10 मई को, भारतीय मुक्केबाजों ने उज्बेकिस्तान के ताशकंद में सेमीफाइनल में पहुंचकर पहली बार विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप में तीन पदक सुनिश्चित किए।
  • भारत ने इतिहास रचा जब 51 किग्रा में दीपक भोरिया, 57 किग्रा में मोहम्मद हसमुद्दीन और 71 किग्रा में निशांत देव ने अपने-अपने क्वार्टर फाइनल मुकाबले जीते।
  • यह पहली बार है जब भारतीय पुरुष मुक्केबाज विश्व चैम्पियनशिप से तीन पदक घर लाएंगे।
  • पहले क्वार्टर फाइनल में दीपक ने किर्गिस्तान के द्युशेबाएव नुर्जिगित को हराया।
  • दो बार के राष्ट्रमंडल खेलों के कांस्य पदक विजेता हसामुंदिन ने बुल्गारिया के जे डियाज इबनेज के खिलाफ करीबी मुकाबले में जीत हासिल की।
  • निशांत देव ने क्यूबा के जॉर्ज कुएलर को 5-0 से हराया।
  • 12 मई को तीनों मुक्केबाज अपना सेमीफाइनल मैच खेलेंगे।

World Boxing Championships

(Source: News on Air)

विषय: बैंकिंग प्रणाली

6. गलत क्रेडिट कार्ड डेटा के लिए आरबीआई ने एचएसबीसी पर 1.73 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया।

  • 8 मई को, भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने क्रेडिट सूचना कंपनी नियम, 2006 के उल्लंघन के लिए हांगकांग और शंघाई बैंकिंग कॉर्पोरेशन लिमिटेड (HSBC) पर 1.73 करोड़ रुपये का मौद्रिक जुर्माना लगाया है।
  • एचएसबीसी ने सभी चार क्रेडिट इंफॉर्मेशन कंपनियों को जीरो बैलेंस ड्यू वाले मल्टीपल एक्सपायर्ड क्रेडिट कार्ड्स के बारे में झूठी क्रेडिट जानकारी दी।
  • पर्यवेक्षी मूल्यांकन (ISE) के लिए वैधानिक निरीक्षण आरबीआई द्वारा 31 मार्च, 2021 को इसकी वित्तीय स्थिति के संदर्भ में किया गया था।
  • आरबीआई ने जोखिम मूल्यांकन रिपोर्ट की जांच की और इससे संबंधित सभी पत्राचारों में अन्य बातों के साथ-साथ बैंक द्वारा पूर्वोक्त नियमों के उल्लंघन का पता चला।
  • उसके बाद उपरोक्त सीआईसी नियमों के उल्लंघन के आरोप की पुष्टि हुई और मौद्रिक दंड लगाने की आवश्यकता हुई।
  • यह कार्रवाई विनियामक अनुपालन में कमियों पर आधारित है और इसका उद्देश्य बैंक द्वारा अपने ग्राहकों के साथ किए गए किसी भी लेनदेन या समझौते की वैधता को प्रभावित करना नहीं है।
  • यह जुर्माना क्रेडिट सूचना कंपनी (विनियमन) अधिनियम, 2005 की धारा 25(1) और धारा 23(4) के प्रावधानों के तहत आरबीआई को प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए लगाया गया है।
 
Monthly Current Affairs eBooks 2023
April Monthly Current Affairs March Monthly Current Affairs
February Monthly Current Affairs January Monthly Current Affairs

विषय: सरकारी योजनाएं और पहल

7. भारतीय आयुर्विज्ञान अनसुंधान परिषद (आईसीएमआर) द्वारा ड्रोन द्वारा ब्लड बैग वितरण का ट्रायल रन सफलतापूर्वक किया गया है।

  • आईसीएमआर ने नई दिल्ली में अपनी आई-ड्रोन पहल के तहत सफलतापूर्वक परीक्षण किया है।
  • उद्घाटन परीक्षण उड़ान के हिस्से के रूप में, गवर्नमेंट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (जीआईएमएस), ग्रेटर नोएडा और लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज (एलएचएमसी), नई दिल्ली से दस यूनिट रक्त के नमूने लिए गए।
  • भारत में पहली बार आईसीएमआर, एलएचएमसी, जीआईएमएस और जेपी सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान (जेआईआईटी), नोएडा के सहयोगात्मक प्रयासों से ट्रायल रन किया गया है।
  • आईसीएमआर ने सबसे पहले 'आई-ड्रोन' का इस्तेमाल कोविड-19 महामारी के दौरान अगम्य क्षेत्रों में टीकों के वितरण के लिए किया था।
  • रक्त और रक्त संबंधी उत्पादों को कम तापमान पर रखना चाहिए।
  • एक और सैंपल एंबुलेंस में ले जाया गया है।
  • अगर दोनों माध्यमों से भेजे गए नमूनों में कोई अंतर नहीं पाया जाता है तो इस ड्रोन का इस्तेमाल पूरे भारत में किया जाएगा।
  • एलएचएमसी और जीआईएमएस ब्लड बैग्स की आपूर्ति और नमूनों के परीक्षण के केंद्र हैं।
  • जेआईआईटी ड्रोन सॉर्टी के लिए कार्यान्वयन केंद्र के रूप में कार्य कर रहा है।
  • आई-ड्रोन पहल:
    • अक्टूबर 2021 में केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री, मनसुख मंडाविया द्वारा आईसीएमआर के ड्रोन रिस्पांस एंड आउटरीच इन नॉर्थ ईस्ट (आई-ड्रोन) को लॉन्च किया गया था।
    • यह जीवन रक्षक टीके सभी तक पहुंचें सुनिश्चित करने के लिए एक वितरण मॉडल है।

विषय: राष्ट्रीय समाचार

8. पीएम मोदी ने 11 मई 2023 को राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस के अवसर पर कई वैज्ञानिक परियोजनाओं का शिलान्यास और राष्ट्र को समर्पित किया।

  • परियोजनाएं पांच हजार आठ सौ करोड़ रुपये से अधिक की हैं।
  • पीएम मोदी ने इस अवसर पर एक स्मारक डाक टिकट और सिक्का भी जारी किया।
  • पीएम द्वारा जिन परियोजनाओं की आधारशिला रखी गई उनमें लेजर इंटरफेरोमीटर ग्रेविटेशनल-वेव ऑब्जर्वेटरी - इंडिया (एलआईजीओ-इंडिया), हिंगोली, होमी भाभा कैंसर अस्पताल और अनुसंधान केंद्र, ओडिशा में जतनी और टाटा मेमोरियल अस्पताल, मुंबई का प्लेटिनम जुबली ब्लॉक शामिल हैं।
  • एलआईजीओ-इंडिया को महाराष्ट्र के हिंगोली में विकसित किया जाएगा। एलआईजीओ-इंडिया संयुक्त राज्य अमेरिका में संचालित दो लेजर इंटरफेरोमीटर ग्रेविटेशनल-वेव ऑब्जर्वेटरी के साथ सिंक्रोनाइज़ेशन में काम करेगा।
  • प्रधानमंत्री ने मुंबई में फिशन मोलिब्डेनम-99 उत्पादन सुविधा, विशाखापत्तनम में रेयर अर्थ परमानेंट मैगनेट प्लांट और होमी भाभा कैंसर अस्पताल और अनुसंधान केंद्र राष्ट्र को समर्पित किया।
  • फिशन मोलिब्डेनम-99 उत्पादन सुविधा भाभा परमाणु अनुसंधान केंद्र (बीएआरसी) के ट्रॉम्बे परिसर में स्थित है।
  • मोलिब्डेनम-99 टेक्नटियम-99एम का मूल है। टेक्नीटियम-99एम का उपयोग कैंसर, हृदय रोग आदि का शीघ्र पता लगाने के लिए 85% से अधिक इमेजिंग प्रक्रियाओं में किया जाता है।
  • उन्होंने नवी मुंबई में राष्ट्रीय हैड्रॉन बीम थेरेपी सुविधा और महिला एवं बच्चों के कैंसर अस्पताल भवन को भी राष्ट्र को समर्पित किया।
  • राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस:
    • इस वर्ष के राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस समारोह का विशेष फोकस अटल इनोवेशन मिशन (एआईएम) पर है।
    • पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी ने 1999 में राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस मनाने की शुरुआत की थी।
    • यह हर साल 11 मई को मनाया जाता है। इस साल की थीम 'स्कूल टू स्टार्टअप्स- इग्नाइटिंग यंग माइंड्स टू इनोवेट' है।

विषय: राज्य समाचार/पंजाब

9. पंजाब 'चलने के अधिकार' को लागू करने वाला पहला राज्य बना।

  • पंजाब सरकार ने पैदल चलने वालों और साइकिल सवारों की मौतों में लगातार वृद्धि के कारण 'चलने के अधिकार' को लागू करने की घोषणा की है।
  • पंजाब सरकार ने एनएचएआई सहित सभी सड़क-स्वामित्व एजेंसियों के लिए भविष्य में सड़कों के विस्तार और नई सड़कों के निर्माण में  फुटपाथ और साइकिल ट्रैक प्रदान करना अनिवार्य कर दिया है।
  • पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय और सर्वोच्च न्यायालय में जनहित याचिका दायर किए जाने के बाद राज्य सरकार ने ये निर्देश जारी किए।
  • फुटपाथ व साइकिल ट्रैक बनाने की कार्ययोजना तैयार करने के लिए लोक निर्माण विभाग, स्थानीय निकायों, एनएचएआई और शहरी विकास विभागों को कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश दिए गए हैं।
  • पंजाब:
    • यह दो शब्दों पुंज (पांच) + आब (जल) अर्थात पांच नदियों की भूमि से मिलकर बना है।
    • पंजाब की अर्थव्यवस्था मुख्य रूप से कृषि पर आधारित है।
    • भारत की 2011 की जनगणना के अनुसार पंजाब की कुल जनसंख्या 2,77,43,338 है।
    • राज्य का कुल क्षेत्रफल 50,362 वर्ग किलोमीटर (19,445 वर्ग मील) है,
    • यह भारत के उत्तर-पश्चिम क्षेत्र में स्थित एक राज्य है और सबसे समृद्ध राज्यों में से एक है।

विषय: रक्षा

10. इंडो-थाई कोऑर्डिनेटेड पेट्रोल (कॉर्पैट) का 35वां संस्करण 03 से 10 मई 2023 तक आयोजित किया गया।

  • भारतीय नौसेना और रॉयल थाई नौसेना ने भारत-थाईलैंड समन्वित गश्ती (इंडो-थाई कॉर्पैट) के 35वें संस्करण में भाग लिया।
  • भारतीय नौसेना जहाज (INS) केसरी और थाई मैजेस्टीज़ शिप (HTMS) सैबुरी ने दोनों नौसेनाओं के समुद्री गश्ती विमानों के साथ अंडमान सागर में कॉर्पेट (CORPAT) में भाग लिया।
  • भारतीय नौसेना और रॉयल थाई नौसेना 2005 से अंतर्राष्ट्रीय समुद्री सीमा रेखा (आईएमबीएल) के पास द्वि-वार्षिक कॉर्पेट (CORPAT) का आयोजन कर रही है।
  • कॉर्पेट (CORPAT) दोनों नौसेनाओं के बीच समझ बनाने और अंतर-क्षमता में सुधार करने में मदद करता है।
  • कॉर्पेट (CORPAT) मछली पकड़ने, नशीले पदार्थों की तस्करी, समुद्री डकैती और सशस्त्र डकैती जैसी गैरकानूनी गतिविधियों को रोकने और दबाने के लिए संस्थागत उपायों को सुविधाजनक बनाने का अवसर देता है।
  • यह तस्करी, और अवैध आप्रवासन की रोकथाम और समुद्र में खोज और बचाव (एसएआर) संचालन के लिए सूचनाओं के आदान-प्रदान के लिए तालमेल बढ़ाएगा।
  • 'सागर' पहल के हिस्से के रूप में, भारतीय नौसेना क्षेत्रीय समुद्री सुरक्षा को बढ़ाने की दिशा में हिंद महासागर क्षेत्र के देशों के साथ सक्रिय रूप से संलग्न है।
  • 35वां इंडो-थाई कॉर्पेट भारत और थाईलैंड के बीच दोस्ती के बंधन को बढ़ाने की दिशा में एक और कदम है।

35th Indo-Thai CORPAT

विषय: सरकारी योजनाएं और पहल

11. नेशनल ई-गवर्नेंस डिवीजन (एनईजीडी) द्वारा 36वें मुख्य सूचना सुरक्षा अधिकारी विस्तृत विश्लेषण प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

  • यह कार्यक्रम ‘साइबर सुरक्षित भारत’ के तहत 8 से 12 मई 2023 तक आयोजित किया जा रहा है।
  • यह भारतीय लोक प्रशासन संस्थान, नई दिल्ली में आयोजित किया जा रहा है और केंद्रीय मंत्रालयों, राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के 24 प्रतिभागी अभ्यास में भाग ले रहे हैं।
  • पांच दिवसीय गहन प्रशिक्षण कार्यक्रम केंद्र और राज्य/केंद्र शासित प्रदेश सरकारों, अधीनस्थ एजेंसियों/पीएसयू से नामित सीआईएसओ के लिए डिज़ाइन किया गया है।
  • इसके अलावा, प्रशिक्षण कार्यक्रम में उन अधिकारियों को भी शामिल किया गया, जिन्हें अपने संबंधित संगठनों में सूचना प्रौद्योगिकी प्रणाली की सुरक्षा का अवलोकन करने के लिए तैनात किया गया है।
  • कार्यक्रम का उद्घाटन एनआईसी के उप महानिदेशक श्री आरएस मणि ने किया।
  • यह प्रशिक्षण कार्यक्रम उद्योग जगत, शिक्षा क्षेत्र और सरकार के विषय-विशेषज्ञों को साइबर सुरक्षा के प्रमुख डोमेन मुद्दों पर चर्चा करने के लिए एक मंच पर लाया है।
  • साइबर सुरक्षित भारत इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (MeitY) की एक पहल है।
  • इसकी शुरुआत साइबर अपराध के बारे में जागरूकता फैलाने और सभी सरकारी विभागों में मुख्य सूचना सुरक्षा अधिकारियों (सीआईएसओ) तथा अग्रिम पंक्ति के सूचना प्रौद्योगिकी कर्मियों की क्षमताओं में बढ़ोतरी लाने के मिशन के साथ की गई थी।
  • विस्तृत विश्लेषण प्रशिक्षण कार्यक्रम का उद्देश्य विशेष रूप से मुख्य सूचना सुरक्षा अधिकारियों को साइबर हमलों के बारे में व्यापक जानकारी देना और इसकी कार्य प्रणाली को पूरी तरह से समझने के लिए प्रशिक्षित करना एवं क्रियान्वयन हेतु सक्षम बनाना है।
  • नेशनल ई-गवर्नेंस डिवीजन ने जून 2018 से मई 2023 तक की कुल समयावधि में 1,419 से अधिक मुख्य सूचना सुरक्षा अधिकारियों और अग्रिम पंक्ति के सूचना प्रौद्योगिकी कर्मियों के लिए मुख्य सूचना सुरक्षा अधिकारी विस्तृत विश्लेषण प्रशिक्षण कार्यक्रमों के 36 बैचों का प्रभावी ढंग से संचालन किया है।

विषय: रक्षा

12. 1 अगस्त से सेना में ब्रिगेडियर और उससे ऊपर के रैंक के अधिकारियों के लिए सामान्य वर्दी होगी।

  • सेना ने फैसला किया है कि 1 अगस्त से ब्रिगेडियर और उससे ऊपर के रैंक के अधिकारियों के पास उनके अलग-अलग मूल कैडर और नियुक्ति के बावजूद एक समान वर्दी होगी।
  • हाल ही में संपन्न सेना कमांडरों के सम्मेलन के दौरान विस्तृत विचार-विमर्श के बाद यह निर्णय लिया गया।
  • निर्णय के तहत वरिष्ठ अधिकारियों के हेडगियर, शोल्डर रैंक बैज, गोरगेट पैच, बेल्ट और जूता एक जैसा होगा।
  • कर्नल और उससे नीचे के रैंक के अधिकारियों द्वारा पहनी जाने वाली वर्दी में कोई बदलाव नहीं होगा।
  • भारतीय सेना ने रेजीमेंटेशन की सीमाओं से परे, वरिष्ठ नेतृत्व के बीच सेवा मामलों में सामान्य पहचान और दृष्टिकोण को बढ़ावा देने और मजबूत करने के लिए इस सामान्य वर्दी को अपनाने का फैसला किया है।
  • भारतीय सेना में ब्रिगेडियर और उससे ऊपर के अधिकारी वे होते हैं जो पहले से ही यूनिट या बटालियन की कमान संभाल चुके होते हैं और ज्यादातर मुख्यालय या प्रतिष्ठानों में तैनात होते हैं जहां सभी हथियारों और सेवाओं के अधिकारी एक साथ काम करते हैं।

विषय: शिखर सम्मेलन/सम्मेलन/बैठकें

13. 42वां आसियान शिखर सम्मेलन औपचारिक रूप से इंडोनेशिया के लाबुआन बाजो शहर में शुरू हुआ।

  • इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो ने क्षेत्रीय शांति और विकास के लिए एकता और आर्थिक एकीकरण का आग्रह किया।
  • शिखर सम्मेलन से तिमोर-लेस्ते की पूर्ण सदस्यता के लिए एक रोडमैप तैयार करने की उम्मीद है।
  • पिछले साल आसियान देशों ने तिमोर-लेस्ते (पूर्वी तिमोर) को 11वें सदस्य के तौर पर शामिल करने पर सहमति जताई थी।
  • तिमोर-लेस्ते के प्रधान मंत्री टॉर मटन रूआक पर्यवेक्षक के रूप में शिखर सम्मेलन में उपस्थित हुए।
  • इस वर्ष के शिखर सम्मेलन का विषय "आसियान मैटर: एपिसेंट्रम ऑफ़ ग्रोथ" है।
  • पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलन 6-7 सितंबर को जकार्ता में आयोजित किया जाएगा।
  • आसियान:
    • इसकी स्थापना 8 अगस्त 1967 को हुई थी। इसका मुख्यालय जकार्ता, इंडोनेशिया में है।
    • ब्रुनेई, कंबोडिया, इंडोनेशिया, लाओस, मलेशिया, म्यांमार, फिलीपींस, सिंगापुर, थाईलैंड और वियतनाम आसियान के सदस्य हैं।

विषय: समितियां/आयोग/कार्यबल

14. सरकार उत्तर-पूर्वी राज्यों में भू-शासन के लिए एक टास्क फोर्स बनाएगी।

  • केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्रालय ने घोषणा की कि उत्तर-पूर्वी राज्यों में भूमि शासन के लिए एक टास्क फोर्स का गठन किया जाएगा।
  • यह निर्णय गुवाहाटी, असम में आयोजित "पूर्वोत्तर राज्यों में भूमि शासन" पर राष्ट्रीय सम्मेलन में लिया गया।
  • सम्मेलन के दौरान वर्तमान राज्य प्रथाओं और भूमि अभिलेखों के आधुनिकीकरण और भूमि प्रशासन मूल्यांकन ढांचे पर सत्र आयोजित किए गए।
  • असम, त्रिपुरा, मिजोरम और मेघालय प्रादेशिक और स्वायत्त जिला परिषदों ने माना कि क्षेत्र के विकास के लिए भूमि अभिलेखों का डिजिटलीकरण और आधुनिकीकरण आवश्यक है।
  • असम के एक हिस्से में, भूमि अभिलेखों और नक्शों के कम्प्यूटरीकरण और डिजिटलीकरण की पहल ने अच्छी प्रगति दिखाई है।
  • बोडोलैंड प्रादेशिक परिषद ने भूमि अभिलेखों के डिजिटलीकरण और आधुनिकीकरण का प्रस्ताव दिया था और भूमि संसाधन विभाग ने इसे मंजूरी दे दी है।
  • त्रिपुरा जनजातीय क्षेत्र स्वायत्त परिषद में आठ जिले हैं।
  • गारो हिल्स स्वायत्त जिला परिषद में जिला परिषद द्वारा वार्षिक पट्टा जारी करने की व्यवस्था है।
Related Study Material
Evolution and History of the Indian Constitution Preamble of the Indian Constitution
Major sources of Indian Constitution President of India
Ramsar sites of India 2022 Classification of Rocks
Interior of the Earth Tax system in India
 
 

0
COMMENTS

Comments


Share Blog


x