डेली करेंट अफेयर्स और GK | 13 फरवरी 2021

Main Headlines:

विषय: राज्य समाचार / कर्नाटक

1. विजयनगर कर्नाटक का 31 वाँ जिला बना।

  • कर्नाटक सरकार ने कर्नाटक भूमि राजस्व अधिनियम, 1964 के तहत बल्लारी जिले के क्षेत्रों को काटकर विजयनगर जिले का गठन किया है।
  • विजयनगर जिला छह तालुकों से युक्त होगा और होसपेट इसका प्रशासनिक मुख्यालय होगा।
  • सितंबर 2019 में बीएस येदियुरप्पा द्वारा एक नया विजयनगर जिला बनाने का अभियान शुरू किया गया था।
  • राज्य मंत्रिमंडल ने 18 नवंबर 2020 को विजयनगर जिले के गठन को मंजूरी दी थी।
  • विजयनगर जिला: यह हम्पी और विरुपाक्ष मंदिर के लिए प्रसिद्ध है। यह कर्नाटक के उत्तर-पूर्वी भाग में स्थित है।
  • कर्नाटक:
    • यह दक्षिण भारत का सबसे बड़ा राज्य है।
    • यह महाराष्ट्र, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और केरल के साथ अपनी सीमा साझा करता है।
    • वर्तमान में, इसमें 31 जिले हैं।
    • मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा हैं और राज्यपाल वजुभाई वाला हैं।
    • कर्नाटक विधायिका द्विसदनीय विधायिका है।
 

विषय: किताबें और लेखक

2. हामिद अंसारी ने अपनी किताब ‘बाई मैनी ए हैप्पी एक्सीटेंडः रीकलेक्शन ऑफ ए लाइफ’ का विमोचन किया।

  • भारत के पूर्व उपराष्ट्रपति, मोहम्मद हामिद अंसारी, ने ‘बाई मैनी ए हैप्पी एक्सीटेंडः रीकलेक्शन ऑफ ए लाइफ’ नामक एक पुस्तक लिखी है। यह उनकी आत्मकथा है।
  • पुस्तक उनके निजी जीवन और सार्वजनिक जीवन की घटनाओं को बयां करती है। इसे रूपा पब्लिकेशंस इंडिया ने प्रकाशित किया है।
  • उन्होंने अपनी कूटनीति और राष्ट्रपति के दिनों के अनुभवों के बारे में भी लिखा है।
  • मोहम्मद हामिद अंसारी 2007 से 2017 तक भारत के उपराष्ट्रपति थे।
  • उन्होंने सिटीजन एंड सोसाइटी, टीजिंग क्वेश्चन, डेयर आई क्वेश्चन बुक्स आदि सहित कई किताबें लिखी हैं।
  • उन्होंने संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि और अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के कुलपति के रूप में भी काम किया है।
 

विषय: राज्य समाचार / बिहार

3. बिहार ने यूएनईपी के साथ समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए।

  • बिहार ने क्लाइमेंट रेजिलियेंट(जलवायु लचीली) और कम-कार्बन विकास पथ के लिए संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (यूएनईपी) के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए।
  • साझेदारी के तहत, यूएनईपी के समर्थन से बिहार में विभिन्न क्षेत्रों के कार्बन फुटप्रिंट का मूल्यांकन किया जाएगा।
  • कार्बन डाइऑक्साइड उत्सर्जन को कम करने और कार्बन सिंक में सुधार करने के लिए यूएनईपी के सहयोग से एक योजना भी तैयार की जाएगी।
  • बिहार यूएनईपी की मदद से जलवायु प्रभाव भेद्यता आकलन और ग्रीनहाउस गैस इन्वेंट्री तैयार करेगा।
  • जलवायु परिवर्तन पर बिहार की राज्य कार्य योजनाओं का संशोधन भी यूएनईपी के साथ साझेदारी का एक हिस्सा है।
  • बिहार सरकार ने वृक्षारोपण को बढ़ावा देने के लिए जल-जीवन हरियाली योजना शुरू की थी। यह पटना, गया और मुजफ्फरपुर जैसे शहरों में प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए काम कर रही है।
  • सीपीसीबी ने कुछ प्रदूषित शहरों को गैर-प्राप्ति वाले शहरों के रूप में पहचान की थी। इन शहरों में, राष्ट्रीय परिवेशी वायु गुणवत्ता मानकों का उल्लंघन होता है।

 

विषय: अंतरिक्ष और आईटी

4. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) और मैपमायइंडिया के बीच साझेदारी की घोषणा की गई ।

  • इसरो और मैपमीइंडिया के बीच पूर्ण रूप से स्वदेशी मैपिंग पोर्टल, ऐप और जियोस्पेशियल सेवाएं प्रदान करने के लिए साझेदारी की घोषणा की गई है।
  • इन सेवाओं को  मैपमायइंडिया के डिजिटल नक्शों और प्रौद्योगिकियों और इसरो की उपग्रह इमेजरी और पृथ्वी अवलोकन डेटा के कैटलॉग के माध्यम से प्रदान किया जाएगा।
  • यह साझेदारी भू-अवलोकन डेटासेट, नाविक, भुवन, वीईडीएएस और मोसडैक जियोपोर्टल्स का उपयोग करके भू-स्थानिक समाधानों के विकास में मदद करेगी।
  • अंतरिक्ष विभाग ने इन भू-स्थानिक सेवाएं प्रदान करने के लिए सीई इन्फो सिस्टम्स प्राइवेट लिमिटेड के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं। इसरो अंतरिक्ष विभाग के अंतर्गत आता है।
  • सीई इंफो सिस्टम्स प्राइवेट लिमिटेड मैपमायइंडिया का मालिक है। यह एक भारतीय कंपनी है जो डिजिटल मैप डेटा और अन्य सेवाओं का निर्माण करती है। यह भारत की अग्रणी डिजिटल मैपिंग कंपनी है।
  • मैपमायइंडिया ने भारत सरकार का आत्मनिर्भर ऐप इनोवेशन चैलेंज 2020 जीता था।
  • भुवन एक राष्ट्रीय भू-पोर्टल है। इसरो ने इसे विकसित किया। यह 2009 में रिलीज़ हुई थी।
  • वीईडीएएस एक ऑनलाइन जियोप्रोसेसिंग प्लेटफॉर्म है। इसका पूर्ण रूप “विज़ुअलाइज़ेशन ऑफ अर्थ ऑब्ज़र्वेशन डाटा एंड आर्काइवल सिस्टम” है।
  • मोसडैक (मौसम विज्ञान और महासागरीय उपग्रह डेटा अभिलेखीय केंद्र) इसरो के मौसम संबंधी मिशनों का एक डेटा भंडार है।

विषय: राज्य समाचार / महाराष्ट्र

5. महाराष्ट्र सरकार और फ्लिपकार्ट के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए।

  • महाराष्ट्र सरकार और फ्लिपकार्ट के बीच एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए गए हैं।
  • समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर का उद्देश्य लकड़ी के खिलौने, स्थानीय कलाकृतियों और हस्तशिल्प को बढ़ावा देना है।
  • एमओयू के तहत, फ्लिपकार्ट महाराष्ट्र के कारीगरों, बुनकरों, शिल्पकारों और एमएसएमई को मुफ्त प्रशिक्षण प्रदान करेगा।
  • एमओयू इन निर्माताओं को भारत में लाखों ग्राहकों को अपने उत्पाद प्रदर्शित करने में मदद करेगा।

विषय: महत्वपूर्ण दिन

6. विश्व रेडियो दिवस: 13 फरवरी

  • विश्व रेडियो दिवस हर साल दुनिया भर में 13 फरवरी को मनाया जाता है। यह सूचना प्राप्त करने के लिए रेडियो के महत्व के बारे में लोगों में जागरूकता बढ़ाने के लिए मनाया जाता है।
  • इस वर्ष के विश्व रेडियो दिवस का विषय "न्यू वर्ल्ड, न्यू रेडियो" है और इसे तीन उप-विषय में विभाजित किया गया है: विकास, नवाचार और संबंध।
  • यह वर्ष विश्व रेडियो दिवस का 10 वां संस्करण है।
  • 2012 में, संयुक्त राष्ट्र महासभा ने अपने 67 वें सत्र में औपचारिक रूप से 13 फरवरी को विश्व रेडियो दिवस के रूप में मनाने का संकल्प अपनाया था।
  • भारत में, पहला कार्यक्रम 1923 में रेडियो क्लब ऑफ बॉम्बे द्वारा प्रसारित किया गया था। ऑल इंडिया रेडियो (AIR) की स्थापना 1936 में हुई थी।
  • रेडियो:
    • गूल्येलमो मार्कोनी रेडियो के आविष्कारक हैं।
    • यह संचार के लिए रेडियो तरंगों का उपयोग करता है। रेडियो तरंगें 30 हर्ट्ज़ (हर्ट्ज) और 300 गीगाहर्ट्ज़ (गीगा) के बीच आवृत्ति की विद्युतचुम्बकीय तरंगें हैं।

World Radio Day

(Source: News on AIR)

विषय: विविध

7. भारत की माइक्रोब्लॉगिंग साइट कू (KOO) की लोकप्रियता बढ़ी।

  • स्वदेशी रूप से विकसित माइक्रोब्लॉगिंग साइट कू (KOO) लोगों के बीच लोकप्रिय हो रही है।
  • ‘कू’ ऐप नवंबर 2019 में लॉन्च किया गया था। यह सोशल नेटवर्किंग प्लेटफॉर्म का भारतीय संस्करण है।
  • यह आत्मनिर्भर भारत ऐप नवप्रवर्तन चुनौती का विजेता है। इसे भारत में बने ऐप के उपयोग को बढ़ावा देने के लिए लॉन्च किया गया था।
  • यह कई भाषाओं में उपलब्ध है और इसमें 400 अक्षरों की शब्द सीमा है।
  • माइक्रोब्लॉगिंग साइट को अपरामेया राधाकृष्णण और मयंक बिदवक्ता द्वारा सह-स्थापित किया गया था।

Koo gains momentum

(Source: News on AIR)

विषय: समाचार में व्यक्तित्व

8. स्वामी दयानंद सरस्वती की जयंती पूरे देश में मनाई गई।

  • स्वामी दयानंद सरस्वती की जयंती 12 फरवरी को पूरे देश में मनाई गई है।
  • कई प्रतिष्ठित नेताओं ने स्वामी दयानंद सरस्वती को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि दी।
  • स्वामी दयानंद सरस्वती:
    • उनका जन्म 12 फरवरी 1984 को गुजरात में हुआ था और उनका असली नाम मूल शंकर था।
    • उन्होंने 1875 में बंबई में आर्य समाज की स्थापना की।
    • उन्होंने नारा दिया था- 'वेदों की ओर लौटो' और 'वेद सभी ज्ञान के स्रोत हैं'।
    • वह जाति व्यवस्था, मूर्ति पूजा और अस्पृश्यता के खिलाफ थे। उन्होंने पुरुषों और महिलाओं की शिक्षा के लिए दयानंद एंग्लो वैदिक स्कूलों की स्थापना की थी।
    • उन्होंने सत्यार्थ प्रकाश, संस्कारविधि, ऋग्वेदादि भाष्यभूमिका आदि सहित कई प्रसिद्ध पुस्तकें लिखी हैं।

विषय: नियुक्ति

9. करीम खान को अंतर्राष्ट्रीय आपराधिक न्यायालय के नए वकील (प्रॉसीक्यूटर) के रूप में चुना गया।

  • एक ब्रिटिश वकील, करीम खान को अंतर्राष्ट्रीय आपराधिक न्यायालय के मुख्य वकील (प्रॉसीक्यूटर) के रूप में चुना गया है। वह फातुओ बेनसौदा की जगह लेंगे।
  • वह जून 2021 में अपना नौ साल का कार्यकाल शुरू करेंगे। उन्होंने 72 देशों का वोट प्राप्त किया और आयरलैंड, स्पेन और इटली के उम्मीदवारों को हराया।
  • वह आईसीसी के इतिहास में तीसरे मुख्य वकील (प्रॉसीक्यूटर) होंगे। उनके लिए पहला काम सदस्य राज्यों के बीच आईसीसी की वैधता को बढ़ाना होगा।
  • इससे पहले, संयुक्त राज्य अमेरिका, चीन और रूस ने आईसीसी के अधिकार क्षेत्र को मान्यता देने से इनकार कर दिया है। भारत आईसीसी का सदस्य नहीं है।
  • अंतर्राष्ट्रीय आपराधिक न्यायालय (आईसीसी):
    • इसकी स्थापना 2002 में हुई थी।
    • यह एक अंतरसरकारी संगठन है जो अंतर्राष्ट्रीय अपराधों जैसे युद्ध अपराधों, मानवता के खिलाफ अपराध, नरसंहार, आदि के लिए व्यक्तियों पर मुकदमा चला सकता है।
    • इसका मुख्यालय नीदरलैंड के हेग में स्थित है।
    • चिली इबो-ओसूजी अंतर्राष्ट्रीय आपराधिक न्यायालय के वर्तमान अध्यक्ष हैं।
    • इसमें 123 सदस्य शामिल हैं।

विषय: पर्यावरण और पारिस्थितिकी

10. पर्यावरण मंत्रालय ने वायु प्रदूषण की आशंका के बावजूद कुल्दा खानों के विस्तार की अनुमति दी।

  • पर्यावरण मंत्रालय के विशेषज्ञ मूल्यांकन समिति (ईएसी) ने महानदी कोलफील्ड्स लिमिटेड को ओडिशा में कुल्दा कोयला खानों की क्षमता बढ़ाने के लिए पर्यावरण मंजूरी दी है।
  • यह मंजूरी क्षेत्र के स्वास्थ्य, कृषि और जल निकायों पर प्रतिकूल प्रभाव की आशंका के बावजूद दी गई है।
  • यह मंजूरी इस शर्त पर दी गई है कि महानदी कोलफील्ड्स लिमिटेड को दो वर्षों में गाँवों में 100,000 देशी पेड़ और परिवहन मार्ग पर 50,000 पेड़ लगाने होंगे।
  • कुल्दा कोयला खदानों का उत्पादन 4 मिलियन टन प्रति वर्ष (MTPA) से बढ़ाकर 19.60 MTPA किया जाएगा।
  • ओडिशा में कोयला खदानें:
    • ओडिशा में भारत में कोयले का दूसरा सबसे बड़ा भंडार है।
    • यह भारत के कुल कोयला उत्पादन का लगभग 15 प्रतिशत उत्पादन करता है।
    • ओडिशा के अंगुल जिले में स्थित तालचर कोयला क्षेत्र में देश का सर्वाधिक 51.163 अरब टन का कोयला भंडार है। यह 500 किमी के क्षेत्र में फैला हुआ है।
    • रामपुर-हिमगीर और इब नदी ओडिशा के अन्य कोयला क्षेत्र हैं। इब नदी कोयला क्षेत्र का देश में तीसरा सबसे बड़ा कोयला भंडार है।

विषय: सरकारी योजनाएं और पहल

11. टाइफैक ने “सक्षम” नौकरी पोर्टल और समुद्री शैवाल मिशन लॉन्च किया।

  • प्रौद्योगिकी सूचना, पूर्वानुमान और मूल्यांकन परिषद (टाइफैक) ने “सक्षम” (श्रम शक्ति मंच) नौकरी पोर्टल और समुद्री शैवाल मिशन लॉन्च किया है।
  • टाइफैक के 34 वें स्थापना दिवस के अवसर पर यह पहल शुरू की गई है। टाइफैक ने दो रिपोर्ट भी जारी की हैं- ‘लकड़ी के विकल्प के रूप में भारतीय बांस की प्रौद्योगिकी एवं आर्थिक संभावनाएं’ और ‘भारत के पूर्वोत्तर क्षेत्र में फल एवं सब्ज़ी प्रसंस्करण के अवसर’।
  • सक्षम (श्रम शक्ति मंच) नौकरी पोर्टल:
    • यह एक डाइनेमिक नौकरी पोर्टल है जो देश भर में एमएसएमई क्षेत्र की आवश्यकताओं और श्रमिकों के कौशल को जोड़ने के लिए एक साझा मंच प्रदान करता है।
    • यह अलग अलग भौगोलिक क्षेत्रों में श्रमिकों की मांग और उपलब्धता पर जानकारी के लिए एल्गोरिथ्म और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) उपकरणों का उपयोग करेगा।
    • यह श्रमिकों और एमएसएमई के बीच बिचौलियों और ठेकेदारों की भूमिका को समाप्त करने में मदद करेगा।
    • यह देश में 10 लाख नौकरियां पैदा करेगा और यह श्रमिकों को निकटतम एमएसएमई में नौकरी दिलाने में मदद करेगा।
  • समुद्री शैवाल मिशन:
    • भारत में समुद्री शैवाल उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए समुद्री शैवाल मिशन शुरू किया गया है। वर्तमान में, भारत वैश्विक समुद्री शैवाल उत्पादन का केवल 0.01-0.02% उत्पादन करता है।
    • एक अनुमान के मुताबिक, भारत के विशेष आर्थिक क्षेत्र क्षेत्र के 5% हिस्से में समुद्री शैवाल की खेती से 50 मिलियन रोजगार पैदा हो सकते हैं।
    • यह मिशन सीएसआईआर - सीएसएमसीआरई और अन्य हितधारकों द्वारा विकसित एक रिपोर्ट की सिफारिश पर शुरू किया गया है।
  • समुद्री शैवाल मिशन की विशेषताएं:
    • इसका उद्देश्य भारत के तट पर विभिन्न राज्यों में समुद्री शैवाल की खेती के लिए 1 हेक्टेयर से अधिक में मॉडल फार्म स्थापित करना है।
    • यह समुद्री शैवाल की खेती के लिए बीज सामग्री की आपूर्ति के लिए समुद्री शैवाल नर्सरी स्थापित करेगा।
    • प्रसंस्करण संयंत्र को औद्योगिक रूप से महत्वपूर्ण शैवाल जैसे कि समुद्री शैवाल जैसे गर, अगारोसे, कैरेजेनन और अल्गीनेट्स के लिए स्थापित किया जाएगा।
    • टाइफैक, सीएसआईआर लैब, सीएसआईआर प्रयोगशाला और राज्यों के मत्स्य पालन विभाग इस मिशन की कार्यान्वयन एजेंसियां ​​होंगी।
 

 

 

Share Blog