7 June 2023 Current Affairs in Hindi

By Priyanka Chaudhary | Last Modified: 07 Jun 2023 16:45 PM IST

Main Headlines:

BEAT THE HEAT THIS JUNE get 35% Off
Use Coupon code JUNE2024

six months current affairs 2023 july december Rs.199/- Read More
half yearly financial awareness july december 2023 Rs.199/- Read More
half yearly current affairs in hindi july december 2023 in detail Rs.219/- Read More
half yearly current affairs jan july 2023 in detail Rs.219/- Read More


Half Yearly (Jul- Dec 2023 , Detailed)
2023 e Book

Current Affairs

Available in English & Hindi(eBook)

Buy Now ( Hindi ) Preview Buy Now (English)

विषय: कृषि और संबंधित क्षेत्र

1. सरकार ने अरहर, उड़द और मसूर की दाल के लिए 40 प्रतिशत की खरीद सीमा को हटाया।

  • सरकार ने 2023-24 में मूल्य समर्थन योजना-पीएसएस के तहत अरहर, उड़द और मसूर की दाल के लिए 40 प्रतिशत की खरीद सीमा को हटा दिया है।
  • दालों का घरेलू उत्पादन बढ़ाने के लिए सरकार ने यह अहम कदम उठाया है।
  • यह निर्णय बिना किसी सीमा के न्यूनतम समर्थन मूल्य-एमएसपी पर किसानों से दालों की खरीद का आश्वासन देता है।
  • यह किसानों को उत्पादन बढ़ाने के लिए आगामी खरीफ और रबी बुवाई के मौसम में अरहर, उड़द और मसूर की बुवाई बढ़ाने के वास्ते प्रोत्साहित करेगी।
  • 2 जून को, सरकार ने जमाखोरी और अनैतिक व्यापार गतिविधियों को रोकने और उपभोक्ताओं को वहन करने की क्षमता में सुधार करने के लिए आवश्यक वस्तु अधिनियम, 1955 को लागू करके तूर और उड़द पर स्टॉक सीमा लगा दी थी।
  • स्टॉक सीमा थोक विक्रेताओं, खुदरा विक्रेताओं, बड़ी श्रृंखला के खुदरा  विक्रेताओं, मिल मालिकों (चक्की वालों) और आयातकों के लिए लागू की गई है।
  • इन सबके के लिए उपभोक्ता मामले विभाग के पोर्टल (https://fcainfoweb.nic.in/psp) पर अपने स्टॉक की स्थिति घोषित करना भी अनिवार्य कर दिया गया है।
  • उपभोक्ता मामलों के विभाग ने अरहर और उड़द पर लगाई गई स्टॉक सीमा पर अगली कार्रवाई के तहत राज्य सरकारों को निर्देश दिया है कि वे अपने-अपने राज्यों में इस सीमा का सख्ती से पालन सुनिश्चित करें।
  • इसके लिए राज्यों को विभिन्न गोदाम संचालकों के साथ सत्यापन करके कीमतों और स्टॉक की स्थिति की निगरानी करने के लिए भी कहा गया है।
  • इसके साथ-साथ विभाग ने सेंट्रल वेयरहाउसिंग कॉरपोरेशन (सीडब्ल्यूसी) और स्टेट वेयरहाउसिंग कॉरपोरेशन (एसडब्ल्यूसी) को भी उनके गोदामों में रखी अरहर और उड़द से संबंधित विवरण उपलब्ध कराने को कहा है।
  • 2021-22 की वार्षिक रिपोर्ट के अनुसार, मसूर के क्षेत्र और उत्पादन दोनों में मध्य प्रदेश पहले स्थान पर है।
  • आर्थिक सर्वेक्षण 2022-23 के अनुसार, भारत में तूर के कुल उत्पादन में महाराष्ट्र पहले स्थान पर है।
  • भारत में कुल दलहन उत्पादन में मध्य प्रदेश पहले स्थान पर है, उसके बाद क्रमशः महाराष्ट्र और राजस्थान हैं।

विषय: समझौता ज्ञापन/समझौता

2. बिहार सरकार और भारतीय हवाई अड्डा प्राधिकरण (एएआई) के बीच एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए हैं।

  • समझौता ज्ञापन के तहत, बिहार में दरभंगा और पूर्णिया हवाई अड्डों पर नए सिविल एन्क्लेव बनाए जाएंगे।
  • निर्माण दरभंगा में 78 एकड़ और पूर्णिया में 52.18 एकड़ जमीन पर होगा।
  • वर्तमान में दरभंगा हवाई अड्डे पर अस्थाई सिविल एन्क्लेव से हवाई सेवा चालू है।
  • पूर्णिया के चूनापुर एयरबेस में सिविल एन्क्लेव के निर्माण का प्रस्ताव पिछले कई सालों से अधर में लटका हुआ है।
  • चुनापुर में भारतीय वायु सेना का वर्तमान एयरबेस भारत-चीन युद्ध के तुरंत बाद 1962 में बनाया गया था।
  • क्षेत्रीय संपर्क योजना (आरसीएस)-उड़े देश का आम नागरिक (उड़ान) योजना के तहत, एएआई ने वाणिज्यिक उड़ान संचालन शुरू करने के लिए पूर्णिया में सिविल एन्क्लेव विकसित करने की योजना बनाई है।
  • समझौते के तहत बिहार सरकार दोनों हवाईअड्डों के लिए एएआई को नि:शुल्क अविवादित जमीन मुहैया कराएगी।
  • इससे दरभंगा और पूर्णिया के हवाई अड्डों पर सर्वसुविधायुक्त टर्मिनल भवनों के निर्माण और यात्री केंद्रित सुविधाओं को बढ़ावा मिलेगा।
  • पूर्णिया हवाई अड्डे पर नए सिविल एन्क्लेव के निर्माण से मौजूदा बाधाओं को दूर कर वहां हवाई सेवा शुरू करने का मार्ग भी प्रशस्त होगा।
  • बिहार के महत्वपूर्ण हवाई अड्डे:
    • जयप्रकाश नारायण हवाई अड्डा एक घरेलू हवाई अड्डा है जो बिहार की राजधानी पटना को सेवा प्रदान करता है।
    • गया हवाई अड्डा एक अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा है जो गया, बिहार को सेवा प्रदान करता है।

Darbhanga and Purnea airports in Bihar

(Source: News on AIR)

विषय: राज्य समाचार/उत्तर प्रदेश

3. यूपी में “दीदी कैफे” शुरू हो रहा है, जिसमें सस्ता खाना और नाश्ता मिलेगा।

  • आगरा संभाग के मथुरा, फिरोजाबाद और वृंदावन सहित 17 नगर निगम शहरों में 'दीदी कैफे' शुरू करने की रणनीति बनाई गई है।
  • इस दीदी कैफे की देखरेख महिला स्वयं सहायता समूह ही करेंगे।
  • इसके तहत जिन इलाकों में महिलाएं कार्यरत हैं, वहां इन कैंटीनों के जरिए कम दाम में भोजन, नाश्ता और अन्य सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी।
  • यह प्रयास राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन (NULM) के माध्यम से स्थापित स्वयं सहायता समूहों से जुड़ी महिलाओं को सशक्त बनाने के केंद्र के लक्ष्य का हिस्सा है।
  • वाराणसी में एक पायलट प्रयोग पहले से ही चल रहा है।
  • प्रथम चरण में आगरा संभाग के नगर निगमों में 'दीदी कैफे' चलाया जायेगा, जिससे अधिकारी भविष्य की रणनीति बना सकेंगे।
  • परियोजना के सफल कार्यान्वयन के बाद, मथुरा, वृंदावन, फिरोजाबाद, लखनऊ, अयोध्या, प्रयागराज, गोरखपुर, कानपुर, झांसी और अन्य आगरा का अनुकरण कर सकते हैं।

विषय: राज्य समाचार/उत्तर प्रदेश

4. यूपी में पार्टी की कार्यशैली को बढ़ाने के लिए 'टिफिन पे चर्चा' अभियान शुरू किया गया।

  • उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अगले साल होने वाले संसदीय चुनावों से पहले भाजपा के 'टिफिन पे चर्चा' अभियान के तहत पार्टी सदस्यों के साथ मुलाकात की।
  • भाजपा ने 2014 के लोकसभा चुनाव से पहले मतदाताओं से जुड़ने के लिए अपने तत्कालीन प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी के प्रसिद्ध 'चाय पे चर्चा' सत्रों का उपयोग करने का फैसला किया है।
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नौ साल के कार्यकाल के उपलक्ष्य में 'टिफिन पे चर्चा' अभियान, जिसका अर्थ है "भोजन पर चर्चा", शुरू किया गया है।
  • गोरखपुर में बीजेपी के वरिष्ठ कार्यकर्ताओं के साथ 'टिफिन पे चर्चा' का आयोजन किया गया।
  • बैठक बहुत ही उपयोगी और सकारात्मक रही, जिसमे 328 पदाधिकारियों ने भाग लिया।

विषय: अंतर्राष्ट्रीय समाचार

5. ईरान ने 6 जून से सऊदी अरब में अपने राजनयिक दूतावास को फिर से खोल दिया है।

  • दोनों देशों के बीच सात साल के तनाव के बाद राजनयिक संबंध स्थापित हुए हैं।
  • रियाद में ईरानी दूतावास, जेद्दाह में इसका महावाणिज्य दूत, और इस्लामिक सहयोग संगठन का स्थायी प्रतिनिधि कार्यालय आधिकारिक रूप से 6 और 7 जून को फिर से खुल गया।
  • मार्च में, ईरान और सऊदी अरब राजनयिक संबंधों को फिर से स्थापित करने पर सहमत हुए थे।
  • 2016 में, सऊदी अरब ने तेहरान और पूर्वोत्तर शहर मशहद में अपने राजनयिक पदों पर हमले के बाद ईरान के साथ राजनयिक संबंध तोड़ दिए थे।

Iranian Embassy in Riyadh

(Source: News on AIR)

विषय: पुरस्कार और सम्मान

6. पूर्व प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न को डेम ग्रैंड कम्पैनियनशिप प्राप्त हुआ।

  • यह न्यूजीलैंड का दूसरा सबसे बड़ा सम्मान है। अर्डर्न को किंग चार्ल्स बर्थडे ऑनर्स के हिस्से के रूप में सम्मान मिला।
  • अर्डर्न को सामूहिक शूटिंग और कोरोनावायरस महामारी के दौरान  देश का नेतृत्व करने वाली उनकी सेवा के लिए सम्मान मिला।
  • न्यूजीलैंड में, प्रधान मंत्री साल में दो बार शाही सम्मान चुनते हैं।
  • शाही सम्मानों पर ब्रिटिश राजा चार्ल्स द्वारा हस्ताक्षर किए जाते हैं, जिन्हें न्यूजीलैंड के राजा के रूप में भी मान्यता प्राप्त है।
  • जैसिंडा अर्डर्न ने न्यूजीलैंड के 40 वें प्रधान मंत्री के रूप में कार्य किया। क्रिस हिपकिंस न्यूजीलैंड के वर्तमान प्रधान मंत्री हैं।
  • न्यूज़ीलैंड:
    • यह दक्षिण-पश्चिमी प्रशांत महासागर में स्थित एक द्वीपीय देश है।
    • इसमें दो मुख्य भू-भाग शामिल हैं- उत्तरी द्वीप और दक्षिण द्वीप।
    • इसकी सरकार एक एकात्मक संसदीय संवैधानिक राजतंत्र है। वेलिंगटन इसकी राजधानी है।

विषय: राष्ट्रीय समाचार

7. नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने एक अखिल भारतीय डार्क नेट ड्रग तस्करी कार्टेल को गिरफ्तार किया है।

  • एनसीबी के उप महानिदेशक ज्ञानेश्वर सिंह के अनुसार, एनसीबी द्वारा किसी एक ऑपरेशन में की गई यह अब तक की सबसे बड़ी ड्रग बरामदगी है।
  • उन्होंने कहा कि आरोपी डार्क नेट के जरिए क्रिप्टोकरेंसी का इस्तेमाल कर रहे थे।
  • डार्कनेट गहरे छिपे हुए इंटरनेट प्लेटफॉर्म को संदर्भित करता है।
  • इसका उपयोग अवैध गतिविधियों जैसे नशीले पदार्थों की बिक्री, अश्लील सामग्री के आदान-प्रदान आदि के लिए किया जाता है।
  • यह कानून प्रवर्तन एजेंसियों की निगरानी से दूर रहने के लिए अनियन राउटर की गुप्त एलेस का उपयोग करता है।
  • एनसीबी ने एलएसडी ड्रग के 15 हजार ब्‍लॉट सीज किए हैं। पिछले दो दशकों में यह सबसे बड़ी जब्ती है।
  • लाइसेर्जिक एसिड डायथाइलैमाइड (एलएसडी) एक सिंथेटिक रसायन आधारित दवा है। इसे मतिभ्रामक (हैलुसिनोजन) के रूप में वर्गीकृत किया गया है।
  • नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो:
    • इसकी स्थापना 1986 में हुई थी।
    • यह अवैध मादक पदार्थों की तस्करी पर नज़र रखने और अंतर्राष्ट्रीय दवा कानूनों के कार्यान्वयन के लिए जिम्मेदार है।
    • सत्य नारायण प्रधान नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के महानिदेशक हैं।

विषय: सरकारी योजनाएं और पहल

8. पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय ने विश्व पर्यावरण दिवस 2023 पर 'अमृत धरोहर' और 'मिष्टी' योजनाओं की शुरुआत की।

  • भारत में विश्व पर्यावरण दिवस 2023 समारोह का मुख्य जोर मिशन लाइफ पर था।
  • ग्लासगो में सीओपी26 में वर्ल्ड लीडर्स समिट में पीएम मोदी ने लाइफ (लाइफस्टाइल फॉर एनवायरनमेंट) की अवधारणा दी।
  • मिशन लाइफ के तहत, 7 विषयों में 75 अलग-अलग लाइफ एक्शन की एक सूची की पहचान की गई है।
  • ये विषय पानी बचाओ, ऊर्जा बचाओ, कचरे को कम करो, ई-कचरे को कम करो, एकल-उपयोग वाले प्लास्टिक को कम करो, स्थायी खाद्य प्रणालियों को अपनाओ और स्वस्थ जीवन शैली अपनाओ हैं।
  • भारत द्वारा 2022 में चिन्हित एकल उपयोग वाली प्लास्टिक वस्तुओं के निर्माण, आयात, स्टॉकिंग, वितरण, बिक्री और उपयोग पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।
  • केंद्रीय पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री श्री भूपेंद्र यादव ने इंडियन ऑयल की 'अनबॉटल्ड' पहल के बारे में बात की।
  • इस पहल के तहत करीब 28 पॉलीथीन टेरेफ्थेलेट (पीईटी) बोतलों को रिसाइकिल कर यूनिफॉर्म तैयार की जाएगी।
  • उन्होंने कहा कि हाल ही में इंटरनेशनल बिग कैट एलायंस भी लॉन्च किया गया था।
  • महीने भर चलने वाले जन सक्रियता अभियान का आयोजन किया गया था। इसका समापन 5 जून, 2023 को विश्व पर्यावरण दिवस के रूप में हुआ।
  • एक महीने तक चलने वाले इस अभियान के दौरान देश भर में लगभग 2 करोड़ लोगों की भागीदारी के साथ 13 लाख से अधिक कार्यक्रम हुए।
  • भारत के 75 वेटलैंड्स को रामसर साइट्स यानी अंतरराष्ट्रीय महत्व की वेटलैंड्स की सूची में शामिल किया गया है। वर्ष 2014 में केवल 26 शामिल थे।
  • अब भारत एशिया में रामसर साइटों के दूसरे सबसे बड़े नेटवर्क का घर है।
  • सरकार ने रामसर साइटों के अद्वितीय संरक्षण मूल्यों को बढ़ावा देने के लिए इस वर्ष के बजट के तहत 'अमृत धरोहर' पहल की घोषणा की।
  • 05 जून 2023 को रामसर स्थलों से संबंधित "अमृत धरोहर" की कार्यान्वयन रणनीति का शुभारंभ किया गया।
  • मिष्टी (तटीय आवासों और वास्तविक आय के लिए मैंग्रोव पहल) की घोषणा केंद्रीय बजट 2023-24 में की गई थी।
  • मिष्टी कार्यक्रम 05 जून 2023 को तटीय राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों की भागीदारी के साथ शुरू किया गया था।
  • कार्यक्रम के तहत, नौ तटीय राज्यों और चार केंद्रशासित प्रदेशों में लगभग 540 वर्ग किमी क्षेत्र को पांच वर्षों (2023-2028) में कवर किया जाएगा।
  • केंद्रीय मंत्री श्री यादव ने नीति आयोग के ग्लोबल कॉल फॉर आइडियाज एंड पेपर्स के 5 विजेताओं को भी सम्मानित किया।
  • उन्होंने नीति आयोग द्वारा तैयार तीन संग्रहों का भी विमोचन किया।
  • संग्रह के नाम थिंकिंग फॉर हमारे ग्रह के लिए सोचना, माइंडफुल लिविंग, और लाइफ के लिए विचार नेतृत्व हैं।

UP GK - Uttar Pradesh General Knowledge

 
Monthly Current Affairs eBooks 2023
May Monthly Current Affairs April Monthly Current Affairs
March Monthly Current Affairs February Monthly Current Affairs

विषय: अंतर्राष्ट्रीय समाचार

9. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और जर्मन रक्षा मंत्री बोरिस पिस्टोरियस ने 06 जून 2023 को नई दिल्ली में एक प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता की।

  • भारत और जर्मनी ने द्विपक्षीय रक्षा सहयोग को मजबूत करने की अपनी प्रतिबद्धता की फिर से पुष्टि की है।
  • दोनों देशों ने रक्षा-औद्योगिक साझेदारी को और बढ़ाने के तरीकों का पता लगाने की अपनी प्रतिबद्धता की भी पुष्टि की है।
  • बैठक में, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने उत्तर प्रदेश और तमिलनाडु में दो रक्षा औद्योगिक गलियारों में जर्मन निवेश की संभावनाओं पर प्रकाश डाला।
  • द्विपक्षीय बैठक से पहले अतिथि गणमान्य व्यक्ति को त्रि-सेवा गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया।
  • जर्मन रक्षा मंत्री बोरिस पिस्टोरियस ने नई दिल्ली में राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर पुष्पांजलि अर्पित की।
  • जर्मनी के रक्षा मंत्री बोरिस पिस्टोरियस चार दिवसीय भारत दौरे पर हैं।
  • उनके मुंबई में पश्चिमी नौसेना कमान और मझगांव डॉक शिपबिल्डर्स लिमिटेड के मुख्यालय का दौरा करने की संभावना है।
  • भारत और जर्मनी के बीच 2001 से रणनीतिक साझेदारी है। भारत और जर्मनी के बीच द्विपक्षीय रक्षा सहयोग समझौते पर 2006 में हस्ताक्षर किए गए थे।

विषय: सरकारी योजनाएं और पहल

10. सरकार ने 2,000 प्राथमिक कृषि ऋण समितियों को प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि केंद्र (पीएमबीजेएके) खोलने की अनुमति दी है।

  • 1,000 पीएमबीजेएके अगस्त 2023 तक और शेष 1,000 दिसंबर 2023 तक खोले जाएंगे।
  • 06 जून 2023 को रसायन और उर्वरक मंत्री मनसुख मंडाविया के साथ गृह और सहकारिता मंत्री अमित शाह की बैठक में यह निर्णय लिया गया।
  • अब तक देश भर में 9,400 से अधिक पीएमबीजेएके खोले जा चुके हैं।
  • इन प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि केंद्रों में 1,800 प्रकार की दवाएं और 285 अन्य चिकित्सा उपकरण उपलब्ध हैं।
  • पीएमबीजेएके में दवाएं ब्रांडेड दवाओं की तुलना में 50% से 90% कम दर पर उपलब्ध हैं।
  • पीएमबीजेएके खोलने के लिए व्यक्तिगत आवेदकों के लिए डी.फार्मा या बी.फार्मा होना पात्रता मानदंड है।
  • पीएमबीजेएके के लिए कोई भी संगठन, एनजीओ, धर्मार्थ संगठन और अस्पताल आवेदन कर सकते हैं।
  • पीएमबीजेएके खोलने के लिए कम से कम 120 वर्ग फीट जगह या तो निजी स्वामित्व वाली या किराए पर उपलब्ध होनी चाहिए।
  • पीएमबीजेएके के लिए आवेदन शुल्क 5,000 रुपये है। विशेष श्रेणियों और विशेष क्षेत्रों के आवेदकों को आवेदन शुल्क से छूट दी गई है।
  • विशेष श्रेणियों में महिला उद्यमी, दिव्यांग, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और भूतपूर्व सैनिक शामिल हैं।
  • विशेष क्षेत्रों में आकांक्षी जिले, हिमालय पर्वतीय क्षेत्र, उत्तर-पूर्वी राज्य और द्वीप समूह शामिल हैं।
  • पीएमबीजेएके के लिए प्रोत्साहन पांच लाख रुपये, मासिक खरीद का 15% या अधिकतम 15 हजार रुपये प्रति माह है।
  • विशेष श्रेणियों और क्षेत्रों में, आईटी और इन्फ्रा व्यय की प्रतिपूर्ति के रूप में दो लाख रुपये का एकमुश्त अतिरिक्त प्रोत्साहन प्रदान किया जाता है।
  • प्राथमिक कृषि सहकारी ऋण समितियाँ (पैक्स):
    • वे भारत में त्रि-स्तरीय अल्पकालिक सहकारी ऋण (एसटीसीसी) के निम्नतम स्तर का निर्माण करते हैं।
    • अन्य दो स्तर राज्य सहकारी बैंक और जिला केंद्रीय सहकारी बैंक (डीसीसीबी) हैं।

विषय: रक्षा

11. भारत-अमेरिका ने रक्षा औद्योगिक सहयोग का रोडमैप तैयार किया।

  • 5 जून को, भारत और अमेरिका 'आपूर्ति की सुरक्षा' (एसओएस) व्यवस्था और 'पारस्परिक रक्षा खरीद' (आरडीपी) समझौते के लिए बातचीत शुरू करने पर सहमत हुए हैं।
  • यह दीर्घकालिक आपूर्ति श्रृंखला स्थिरता को बढ़ावा देगा।
  • भारत में जनरल इलेक्ट्रिक जीई-414 जेट को असेंबल करने का सौदा प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की अमेरिका की आगामी यात्रा के दौरान संपन्न होने की संभावना है।
  • अमेरिकी रक्षा सचिव लॉयड जे ऑस्टिन की भारत यात्रा के दौरान, दोनों पक्षों ने 'रक्षा औद्योगिक सहयोग' के लिए एक रोडमैप तैयार किया, जो अगले कुछ वर्षों के लिए नीतिगत दिशा का मार्गदर्शन करेगा।
  • बातचीत के दौरान, मैरीटाइम डोमेन अवेयरनेस (एमडीए), रणनीतिक बुनियादी ढाँचे और बुनियादी विकास सुविधाओं सहित क्षमता निर्माण शीर्ष मुद्दों में शामिल थे।
  • भारत-यू.एस. रक्षा त्वरण पारिस्थितिकी तंत्र (इंडस-एक्स), अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी सहयोग को आगे बढ़ाने के लिए एक नई पहल 21 जून को यूएस-इंडिया बिजनेस काउंसिल द्वारा शुरू की जाने वाली है।
  • इसे अमेरिकी और भारतीय कंपनियों, निवेशकों, स्टार्ट-अप अक्सेलेटर्स, और अकादमिक शोध संस्थानों के बीच अभिनव साझेदारी को बढ़ावा देकर मौजूदा सरकार से सरकार के सहयोग के पूरक के लिए डिजाइन किया गया है।

विषय: महत्वपूर्ण दिन

12. विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस 2023: 7 जून

  • हर साल 7 जून को विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस मनाया जाता है।
  • यह असुरक्षित भोजन से जुड़े स्वास्थ्य खतरों के बारे में जागरूकता को बढ़ावा देने के लिए मनाया जाता है।
  • इस वर्ष विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस (WFSD) का पांचवां संस्करण मनाया गया है।
  • विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस 2023 की थीम "फ़ूड स्टैंडर्ड्स सेव लिव्स" है।
  • 2018 में, संयुक्त राष्ट्र ने इस दिन को दूषित भोजन और पानी के स्वास्थ्य परिणामों पर वैश्विक ध्यान आकर्षित करने के लिए घोषित किया था।

विषय: रिपोर्ट और सूचकांक/रैंकिंग

13. एनएचएआई ने पर्यावरणीय उत्तरदायित्व पर पहली ‘सस्टेनेबिलिटी रिपोर्ट’ जारी की।

  • एनएचएआई ने अपनी पहली 'वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए स्थिरता रिपोर्ट' जारी की है, जिसमें पर्यावरण स्थिरता के लिए की गई पहलों पर प्रकाश डाला गया है।
  • इसमें एनएचएआई की प्रशासकीय संरचना, हितधारकों, पर्यावरण और सामाजिक जिम्मेदारी से जुड़ी पहलों को शामिल किया गया है।
  • यह रिपोर्ट केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी द्वारा 5 जून को जारी की गई।
  • वित्त वर्ष 2019-20 और 2021-22 में खपत में कमी के कारण प्रत्यक्ष उत्सर्जन में 18.44% और 9.49% की कमी आई है।
  • एनएचएआई स्वच्छ और हरित ऊर्जा स्रोतों की ओर बढ़ते हुए अप्रत्यक्ष उत्सर्जन को कम करने की दिशा में लगातार काम कर रहा है।
  • ऊर्जा खपत, संचालन, परिवहन और यात्रा से ग्रीन हाउस गैस (जीएचजी) उत्सर्जन में वित्त वर्ष 2020-21 में 9.7% और वित्त वर्ष 2021-22 में 2% की कमी आई है।
  • एनएचएआई ने ऊर्जा की तीव्रता में भी काफी गिरावट हासिल की है। वित्त वर्ष 2020-21 में इसमें 37 फीसदी और वित्त वर्ष 2021-22 में 27 फीसदी की कमी आई है।
  • फास्टैग के माध्यम से होने वाले इलेक्ट्रॉनिक टोल संग्रह ने भी कार्बन फुटप्रिंट को कम करने में योगदान दिया है।
  • पिछले तीन वर्षों में, एनएचएआई  ने सक्रिय रूप से राष्ट्रीय राजमार्गों के निर्माण के लिए फ्लाई ऐश और प्लास्टिक कचरे जैसी पुनर्चक्रित सामग्रियों का उपयोग किया है। पुनर्चक्रित डामर (आरएपी) और पुनर्चक्रित एग्रीगेट (आरए) का उपयोग भी बढ़ गया है
  • वन्यजीवों की सुरक्षा और मानव-पशु संघर्ष को कम करने के लिए, पिछले तीन वर्षों में, एनएचएआई ने 20 राज्यों में 100 से अधिक वन्यजीव क्रॉसिंग का निर्माण किया है।
  • रिपोर्ट में राष्ट्रीय राजमार्गों के किनारे पौधे लगाने जैसी पर्यावरण के अनुकूल प्रथाओं के प्रति एनएचएआई की प्रतिबद्धता पर भी प्रकाश डाला गया है।
  • वाहनों से होने वाले प्रत्यक्ष उत्सर्जन की भरपाई के लिए लगाए गए पौधों की संख्या भी बढ़ी है।
  • रिपोर्ट में समावेशी एवं जिम्मेदार कार्यप्रणालियों के सृजन के लिए एनएचएआई की प्रतिबद्धता पर भी प्रकाश डाला गया है।
  • पिछले तीन वर्षों के दौरान एनएचएआई में महिलाओं और वंचित समुदायों के लोगों को रोजगार प्रदान करने में वृद्धि हुई है।
  • यह सस्टेनेबिलिटी रिपोर्ट 'ग्रीन फाइनेंस' के लिए नए अवसर खोलेगी।

Sustainability Report on Environmental Responsibility

(Source: PIB)

विषय: अवसंरचना और ऊर्जा

14. 2026-27 तक कुल ऊर्जा का एक तिहाई से अधिक नवीकरणीय स्रोतों से उत्पादित होने की संभावना है।

  • अक्षय ऊर्जा स्रोतों से 2026-27 में 710 बिलियन यूनिट का उत्पादन करने की भविष्यवाणी की गई है।
  • 2026-27 तक देश में कुल ऊर्जा उत्पादन में अक्षय ऊर्जा का योगदान एक तिहाई से अधिक होने का अनुमान है। 2031-32 तक यह लगभग 44% हो जाएगा।
  • नवीकरणीय ऊर्जा स्रोतों से 710 बिलियन यूनिट बिजली उत्पन्न करने की भविष्यवाणी की गई है। यह 2026-27 में कुल ऊर्जा उत्पादन का 35% हिस्सा होगा।
  • 2031-32 तक इसके 44% या 1,172 बिलियन यूनिट तक बढ़ने की भविष्यवाणी की गई है।
  • सौर ऊर्जा का सबसे महत्वपूर्ण योगदान होगा, इसके बाद पनबिजली और पवन ऊर्जा का स्थान होगा।
  • नवीकरणीय ऊर्जा उत्पादन FY23 में 203.55 बिलियन यूनिट था। यह FY22 में 170.91 बिलियन यूनिट से बढ़ गया।
  • यह भारत में कुल ऊर्जा उत्पादन (1,624.47 बिलियन यूनिट) का 12.53% प्रतिशत है।
  • इस अवधि के दौरान, कुल उत्पादन में सौर ऊर्जा का योगदान 6.28% था, जबकि पवन ऊर्जा का योगदान 4.42% था।
  • राजस्थान ने अक्षय ऊर्जा उत्पादन में राज्यों का नेतृत्व किया, जिसमें 41 बिलियन यूनिट का उत्पादन हुआ।
  • राजस्थान के बाद गुजरात और कर्नाटक थे, प्रत्येक के पास 30 अरब इकाइयां थीं।
  • तमिलनाडु में कुल नवीकरणीय ऊर्जा उत्पादन 28 बिलियन यूनिट था।
  • FY23 में, आंध्र प्रदेश और महाराष्ट्र ने क्रमशः 16 बिलियन और 17 बिलियन यूनिट का उत्पादन किया। कुल मिलाकर, दक्षिणी क्षेत्र ने सबसे अधिक नवीकरणीय ऊर्जा (83 बिलियन यूनिट) उत्पन्न की, इसके बाद उत्तरी क्षेत्र और पश्चिमी क्षेत्र का स्थान रहा।
Related Study Material
Evolution and History of the Indian Constitution Preamble of the Indian Constitution
Major sources of Indian Constitution President of India
Ramsar sites of India 2022 Classification of Rocks
Interior of the Earth Tax system in India
 
 

 

 

0
COMMENTS

Comments


Share Blog


x